आखिर क्यों नहीं होता कार के पीछे के टायरों का एलाइनमेंट, जानें क्या है कारण?

0
29


हाइलाइट्स

गाड़ी को एक दिशा में चलाने में परेशानी होने पर इसकी व्हील एलाइनमेंट करवाते हैं.
इस पूरी प्रक्रिया में आगे के पहिए की ही एलाइनमेंट की जाती है.
कुछ आधुनिक गाड़ियों की एलाइनमेंट करते समय पीछे के पहिए पर भी ध्यान देते हैं.

गाड़ी चलाते समय बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जो रूट के ऊपर ध्यान देते हैं. अधिकतर लोग मैप में उस स्थान का नाम डालते हैं जहां उन्हें जाना हो और फिर निकल पड़ते हैं. कई बार कम दूरी और शॉर्ट रास्ता लेने के कारण उबड़ खाबड़ सड़क होने पर गाड़ी में कई तरह के दिक्कतें आ जाती है. सिर्फ इतना ही नहीं इसे चलाने पर भी ड्राइवर को दबाव महसूस होता है. इसके बाद गाड़ी के व्हील की एलाइनमेंट करवाने के लिए मैकेनिक के पास जाते हैं. 

मैकेनिक मशीन की मदद लेकर सभी पहियों कि नहीं बल्कि केवल आगे की ही पहिए की एलाइनमेंट करते हैं. क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है पीछे के पहिए की एलाइनमेंट क्यों नहीं करते. 

यह भी पढ़ें:Tubeless Vs Tube Tyre: जानें आपकी कार और बाइक के लिए कौन-सा टायर है बेहतर

इस वजह से केवल आगे के पहिए की करते हैं एलाइनमेंट
आमतौर पर गाड़ी की एलाइनमेंट नहीं होने की वजह से इसे एक लाइन में चलाने में परेशानी आती है. इसके अलावा स्टेरिंग घुमाने में भी ताकत लगानी पड़ती है. ज्यादातर गाड़ियों में स्टेरिंग घूमते हैं तो केवल आगे की पहिया घूमती है. इसे चलाते समय आगे की पहिए को घुमाने के बाद गाड़ी अपने आप ही धीरे-धीरे मुड़ जाती है. पहिया जाने या फिर इसमें किसी तरह की परेशानी आने पर गाड़ी की बैलेंस बिगड़ने लग जाती है. इसके बाद लोग इसकी एलाइनमेंट करवाते हैं.

कीमती कारों में पिछले पहियों में भी होता है एलाइनमेंट
यह जरूरी नहीं है कि केवल आगे के पहिए की ही एलाइनमेंट हो. आज के समय में बहुत सारी ऐसी कारें भी आ रही है जिसकी एलाइनमेंट करते समय पिछले पहिए पर खासतौर पर ध्यान देते हैं. आमतौर पर आधुनिक और महंगी कारों के साथ ऐसा होता है. इसलिए हम यह नहीं कह सकते हैं कि एलाइनमेंट के समय केवल आगे के पहिए पर ही ध्यान देते हैं. गाड़ी को गैरेज में ले जाने के बाद सभी पहिए को एक बराबर करने के लिए सभी के ऊपर ध्यान देना जरूरी है. 

यह भी पढ़ें: China Lockdown: चीन ने दिया बड़ा झटका, Maruti Suzuki का प्रोडक्‍शन होगा कम

समय पर एलाइनमेंट नहीं करवाने से आती है ये दिक्कतें
गाड़ी चलाते समय अगर किसी भी तरह की परेशानी आए तो इसे जल्दी ही सही करने की दिशा में काम शुरु कर देना चाहिए. कई बार इसे नजरअंदाज करने पर हजारों रुपए का चूना लग सकता है. नियमित रूप से एलाइनमेंट नहीं करवाने पर सस्पेंशन और स्टेरिंग के ऊपर असर पड़ता है. दरअसल स्टेरिंग के अंदर एक मोटर लगी होती है इस में खराबी आने की संभावनाएं ज्यादा बढ़ जाती है. सिर्फ इतना ही नहीं सस्पेंशन में खराबी आने की वजह से अंदर बैठे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

Tags: Automobile, Car, Car Bike News



Source link