एक महीना आगे खिसक सकती है REET!: लेवल- 2 में पोस्ट बढ़ेंगी या नहीं, कैसे खत्म होगा विवाद, एक्सपर्ट ने बताए 5 रास्ते

0
24


जयपुर29 मिनट पहलेलेखक: स्मित पालीवाल

राजस्थान में 46,000 से ज्यादा शिक्षकों की भर्ती टाइम पर होगी, इस पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। शिक्षा विभाग ने अभी तक टीचर्स भर्ती की विज्ञप्ति (नोटिफिकेशन) ही जारी नहीं की है। जबकि कर्मचारी चयन बोर्ड ने 4 और 5 फरवरी को मुख्य भर्ती परीक्षा प्रस्तावित कर रखी है। अगर अगले 1 सप्ताह में शिक्षा विभाग ने अभ्यर्थना (एप्लिकेशन) जारी नहीं की तो 46,500 पदों पर मुख्य भर्ती परीक्षा 30 दिन तक आगे खिसक सकती है।

सूत्रों की मानें तो एग्जाम फरवरी के लास्ट या फिर मार्च के पहले सप्ताह में ही संभव हो पाएगा। नोटिफिकेशन नहीं जारी होने से गवर्नमेंट टीचर बनने का सपना देख रहे 8 लाख अभ्यर्थियों की भी चिंता बढ़ गई है।

REET अभ्यर्थियों का यह इंतजार कितना लंबा होगा? क्या भर्ती परीक्षा आगे खिसकेगी? क्या रीट लेवल-2 में घटाए गए 6 हजार पद फिर से बढ़ेंगे? ऐसे ही सवालों और परीक्षा की संभावनाओं को लेकर भास्कर टीम ने बोर्ड अध्यक्ष और टीचर भर्ती के एक्सपर्ट से बातचीत की।

जवाब नहीं मिला तो रीशेड्यूल करेंगे तारीख
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरिप्रसाद शर्मा ने बताया कि शिक्षा विभाग ने फिलहाल शिक्षक भर्ती को लेकर अभ्यर्थना नहीं भेजी है। ऐसे में बिना अभ्यर्थना भर्ती विज्ञप्ति (नोटिफिकेशन) जारी नहीं की जा सकती। भर्ती प्रक्रिया में हो रही देरी को लेकर हमने शिक्षा विभाग को लेटर भी लिखा है। ऐसे में अगर अगले कुछ दिनों में अभ्यर्थना नहीं मिली, तो 4 और 5 फरवरी में होने वाली शिक्षक भर्ती परीक्षा को रीशेड्यूल कर आगे बढ़ाया जाएगा।

खाली पदों कि संख्या का कर रहे रिव्यू
शिक्षा विभाग प्रदेशभर के स्कूलों में टीचर्स की संख्या को लेकर फिर से रिव्यू कर रहा है। जिसे जल्द ही पूरा कर भर्ती विज्ञप्ति जारी कर दी जाएगी। ताकि खाली चल रहे पदों की संख्या के आधार पर टीचर्स को पोस्टिंग दी जा सके।

8 लाख बेरोजगार परेशान
राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने कहा कि रीट का रिजल्ट आए 2 महीने से ज्यादा का वक्त बीत गया है। लेकिन अब तक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया की विज्ञप्ति जारी नहीं हुई है। जिससे आठ लाख से ज्यादा अभ्यर्थी ही नहीं उनके परिवार का इंतजार भी और ज्यादा बढ़ गया है। वहीं विज्ञप्ति में देरी से नियुक्ति की प्रक्रिया भी आगे बढ़ जाएगी। ऐसे में जल्द से जल्द भर्ती विज्ञप्ति जारी करें। ताकि आगामी विधानसभा चुनाव (2023) की आचार संहिता लगने से पहले ही अभ्यर्थियों को नियुक्ति मिल सके।

लेवल- 2 की वजह से हो रही देरी
शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश में 46 हजार 500 पदों पर भर्ती निकाली गई थी। लेकिन रीट का रिजल्ट आने के बाद राजस्थान सरकार ने लेवल-2 में 6000 पद घटाकर 25 हजार 500 और लेवल-1 में 6000 पद बढ़ाकर 21 हजार पदों पर भर्ती करने का फैसला किया। जिसके बाद प्रदेशभर में लेवल -2 के अभ्यर्थियों ने विरोध शुरू कर दिया। वहीं प्रदेशभर में बढ़ते विरोध के बाद शासन प्रशासन हरकत में आया और एक बार फिर पदों की संख्या को लेकर रिव्यू शुरू कर दिया गया है। लेकिन अब तक कोई फैसला नहीं हो पाया है। ऐसे में भर्ती विज्ञप्ति जारी नहीं की जा रही है।

पदों की संख्या को लेकर हुआ विवाद
दरअसल, 26 सितंबर 2021 को 15 हजार पदों पर आयोजित रीट लेवल-2 का पेपर आउट होने के बाद सरकार ने रद्द कर दिया था। इसके बाद CM गहलोत ने 2022 में कुल 31 हजार 500 पदों पर लेवल-2 की भर्ती निकाली। जिसमें लेवल-2 के पुराने 15000 पद भी शामिल थे। लेकिन भर्ती विज्ञप्ति जारी होने के पहले मुख्यमंत्री गहलोत ने एक बार फिर लेवल-2 के पदों को घटा लेवल-1 के पदों में बढ़ोतरी कर दी है। जिसको लेकर प्रदेशभर के युवाओं ने सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।

REET विवाद को खत्म करने के लिए भर्ती प्रक्रिया में हो सकते हैं ये 5 संभावित बदलाव

  • मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप बिना किसी बदलाव के भर्ती विज्ञप्ति जारी की जा सकती है। इसमे लेवल-1 पर 21,000 और लेवल-2 में 25,500 पदों पर टीचर्स की भर्ती की जाएगी। इनमें विशेष शिक्षकों के 4500 पद भी शामिल होंगे।
  • रीट अभ्यर्थियों के बढ़ते विरोध के बाद शिक्षा विभाग लेवल-2 की पोस्ट बढ़ा सकता है। लेकिन अगर लेवल-2 में लेवल-1 के पदों को घटाकर बढ़ोतरी की गई तो लेवल-1 के अभ्यर्थी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल सकते हैं।
  • लेवल-2 के अभ्यर्थियों के साथ अब लेवल-1 के अभ्यर्थियों ने भी 21,000 से बढ़ाकर 25,000 पदों पर टीचर्स की भर्ती करने की मांग शुरू कर दी है। ऐसे में अगर सरकार लेवल-2 के पदों में बढ़ोतरी करती है। तो आने वाले वक्त में लेवल-1 के साथ विशेष शिक्षकों के पदों की संख्या बढ़ाने की मांग को लेकर भी आंदोलन शुरू हो सकता है।
  • राजस्थान के मौजूदा राजनीतिक हालात और चुनावी साल में युवाओं को खुश रखने के लिए शिक्षा विभाग पदों की संख्या बढ़ाकर भर्ती विज्ञप्ति जारी कर सकता है। ऐसे में शिक्षक भर्ती के 46 हजार 500 पदों में 1500 से 6000 तक पदों की संख्या बढ़ाई जा सकती है।
  • सरकार फिलहाल पदों की संख्या में बदलाव नहीं करती है। तो युवाओं का विरोध शांत करने के लिए 2023 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया की घोषणा भी हो सकती है। ताकि युवाओं को नई भर्ती का सपना दिखाकर विवाद को खत्म किया जा सके।

8 लाख से ज्यादा कैंडिडेट्स होंगे मुख्य परीक्षा में शामिल
23-24 जुलाई को हुई रीट-2022 के रिजल्ट के अनुसार लेवल-2 की परीक्षा में 6,03,228 अभ्यर्थी पात्र घोषित किए गए है। जबकि रीट लेवल-1 की परीक्षा में 2,03,609 अभ्यर्थी पात्र घोषित किए गए। ऐसे में राजस्थान के सरकारी स्कूल के टीचर के एक पद के लिए 603 उम्मीदवार मैदान में होंगे।

जानिए- ग्रेड थर्ड शिक्षक भर्ती प्रक्रिया

  • राजस्थान में ग्रेड थर्ड टीचर के कुल 46,500 पदों पर भर्ती होगी। इसमें लेवल-1 में 21,000 और लेवल-2 के 25,500 पद शामिल है।
  • लेवल-1 और लेवल-2 के लिए दो चरण में भर्ती परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। इसमें पहले चरण की परीक्षा सिर्फ पात्रता के लिए, जबकि दूसरे चरण की परीक्षा का आयोजन टीचर्स के सिलेक्शन के लिए किया जाएगा।
  • 23 और 24 जुलाई को आयोजित हुई पात्रता परीक्षा का रिजल्ट 29 सितंबर को जारी किया जा चुका है।
  • 29 सितंबर को पास किए कैंडिडेट्स का टीचर्स के सिलेक्शन के लिए एक और भर्ती परीक्षा फरवरी में प्रस्तावित है। जो सब्जेक्ट के आधार पर आयोजित की जाएगी।

लेवल-1 और लेवल-2 में 57,400 पद खाली
राजस्थान शिक्षा विभाग के शाला दर्पण पोर्टल के अनुसार प्रदेशभर में लेवल-1 और लेवल-2 में कुल 57,400 टीचर्स के पद खाली चल रहे हैं। जिनमें लेवल-1 में 29,819 जबकि लेवल-2 में 27,857 पद खाली है। ऐसे में अगर सरकार 46,500 पदों पर टीचर्स की भर्ती करती है। तो सरकारी स्कूलों में लेवल-1 में 8,819 पद खाली रहेंगे। जबकि लेवल-2 में 2,081 पद खाली रहेंगे।

जाने क्या है लेवल-1 और लेवल-2
राजस्थान में ग्रेड थर्ड टीचर्स के लिए लेवल-1 और लेवल-2 दो अलग-अलग परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसमें लेवल-1 की परीक्षा में सिर्फ एसटीसी किए हुए उम्मीदवार आवेदन कर सकेंगे। इन्हें कक्षा 1 से 5वीं क्लास तक पढ़ाने का मौका मिलेगा। वहीं, लेवल-2 की परीक्षा के लिए सिर्फ बीएड डिग्रीधारी उम्मीदवार ही आवेदन कर सकेंगे। इन्हें कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थियों को पढ़ने का मौका मिलेगा। लेवल-1 और लेवल-2 दोनों ही परीक्षा के पेपर अलग अलग परियों में आयोजित किए जाएंगे।

रद्द की गई थी लेवल-2 की परीक्षा
दरअसल, राजस्थान में 31 हजार पदों के लिए 25 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों की पिछले साल सितंबर को रीट परीक्षा आयोजित कराई गई थी। इसके 36 दिन बाद रीट का रिजल्ट जारी कर दिया गया था। इसमें से 11 लाख चार हजार 216 को पात्र घोषित किया गया था।

इनमें लेवल-1 के लिए 3 लाख तीन हजार 604 और लेवल-2 के लिए 7 लाख 73 हजार 612 को पात्र घोषित किया गया था। भर्ती परीक्षा का परिणाम जारी होने के बाद लेवल-2 के पेपर के लीक होने संबंधी विवाद में सरकार ने लेवल-2 की परीक्षा को रद्द कर दिया।

ये भी पढ़ें

11 हजार वैकेंसी, एक लाख तक मिलेगी सैलरी:बैंक, रेलवे सहित 10 विभागों में भर्तियां; 10वीं पास भी कर सकते हैं अप्लाई

​​​​​​​

​​​​​​​अगर आप बेरोजगार हैं, तो ध्यान रखिए अगले दो महीने में आपके पास 11 हजार से ज्यादा पदों पर नौकरी के लिए ऑप्शन हैं। इसके लिए 10वीं पास से लेकर ग्रेजुएट तक अप्लाई कर सकते हैं। सबसे खास बात है कि इन जॉब में आप 19 हजार से लेकर एक लाख रुपए तक की सैलरी हासिल कर सकते हैं।​​​​​​​ (पूरी खबर पढ़ें)

खबरें और भी हैं…



Source link