कब्ज होने पर दूध पीना चाहिए या नहीं? एक्सपर्ट ने दिया ये जवाब, इस समस्या से बचने के टिप्स भी बताए

0
59


Constipation relief TIPS: उल्टा सीधा खानुान और गलत लाइफस्टाइल के चलते कब्ज एक आम समस्या बन चुकी है. इस समस्या से हजारों लोग परेशान हैं. इसमें रोगी का पेट ठीक से साफ नहीं हो पाता है. शौच के दौरान काफी दिक्कतें आती हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि फाइबर की कमी, खराब लाइफस्टाइल और अस्वस्थ खान-पान कब्ज के मुख्य कारणों में शामिल हैं. “कब्ज में दूध का सेवन कैसे फायदेमंद हो सकता है, इसे लेकर हमने जाने माने आयुर्वेदिक डॉक्टर अबरार मुल्तानी से बातचीत की है.” 

पेट में दर्द रहना, सख्त मल, बदहजमी, थकान, आलस, सिर में दर्द और चेहरे पर मुहांसे होना कब्ज के प्रमुख लक्षण होते हैं. कब्ज की वजह से सामान्य से लेकर कई गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं, इसलिए कब्ज से समय पर छुटकारा पाना जरूरी होता है. ज्यादातर लोगों के मन में सवाल उठता है कि आखिर कब्ज होने पर दूध पीना चाहिए कि नहीं? नीचे जानिए इस सवाल का जवाब..

कब्ज में दूध पीना चाहिए कि नहीं?

आयुर्वेदिक डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते हैं कि अगर आपको कब्ज रहता है और पेट साफ नहीं होता तो सीधे तौर पर दूध के सेवन से बचें, क्योंकि दूध से बनी चीजों या डेयरी प्रोडक्ट को पचाने में पेट को काफी मेहनत करनी पड़ती है. पेट को डेयरी प्रोडक्ट पचाने में लंबा समय लग जाता है. ऐसे में अगर आपको कब्ज अक्सर ही बना रहता है, तो दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन न करें.  दही, छाछ कब्ज की समस्या में फायदेमंद हो सकते हैं. 

कब्ज में दूध का इस तरह सेवन करने से मिलेगा फायदा

कब्ज होने पर दूध को साधारण तौर पर नहीं पीना चाहिए, लेकिन कुछ ऐसी चीजें हैं, जिनके साथ कब्ज में दूध का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है. 
डॉक्टर अबरार मुल्तानी के अनुसार, एक गिलास गर्म दूध में 2 चम्मच गुड़ मिलाकर खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है.इसके अलावा आप एक गिलास दूध में 2 सूखे अंजीर उबालकर खाएं.इससे कब्ज में आराम मिलेगा. वहीं रात को सोते वक्त एक गिलास गर्म दूध में 2 चम्मच देसी घी डालकर पिएं, इससे सुबह पेट आसानी से साफ हो जाएगा. 

कब्ज दूर करने वाले आसान उपाय

  1. पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं.
  2. लिक्विड डाइट में नारियल पानी, शरबत, सूप आदि लें.
  3. योगासन, एक्सरसाइज करना भी बहुत जरूरी है.
  4. इससे आप फिजिकली एक्टिव रह सकते हैं। 
  5. मैदा, जंक फूड और फास्ट फूड खाने से बचें.
  6. फाइबर युक्त डाइट लें. 
  7. अधिक मात्रा में फलों और सब्जियों को शामिल करें.

Disclaimer
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.

WATCH LIVE TV





Source link