क्या मेरी सोनम गुप्ता बेवफा है?: फिल्म में नजर आएंगी सुरेखा सीकरी, डायरेक्टर बोले- उनका किरदार कहीं न कहीं मेरी दादी से इंस्पायर्ड है

0
93


एक घंटा पहलेलेखक: उमेश कुमार उपाध्याय

  • कॉपी लिंक

जस्सी गिल, सुरभि ज्योति स्टारर फिल्म ‘क्या मेरी सोनम गुप्ता बेवफा है?’ जल्द ओटीटी प्लेटफॉर्म पर स्ट्रीम होने वाली है। फिल्म में दिवंगत अभिनेत्री सुरेखा सीकरी भी अहम भूमिका में नजर आएंगी। उन्होंने यह फिल्म उस समय शूट की थी, जब उनकी तबियत थोड़ी नासाज थी। तबियत खराब होने के चलते फिल्म में उनका किरदार छोटा कर दिया गया था, पर डायरेक्टर सौरभ त्यागी का दावा है कि फिल्म में ‘सुरेखा जी का काम अप्रिशिएट होने वाला है।’ फिल्म में सुरेखा सास के किरदार में हैं और इसमें उनकी बहू के साथ नोंक-झोंक को दिखाया गया है।

सुरेखा का किरदार कहीं न कहीं फिल्म के डायरेक्टर की दादी से इंस्पायर्ड है

सुरेखा को साइन करने और काम करने के बारे में डायरेक्टर कहते हैं, “सुरेखा जी का किरदार कहीं न कहीं मेरी दादी से इंस्पायर्ड था। मैं लंबे समय तक दादी के पास रहा। मेरी दादी लड़कों से बहुत प्यार करती थीं। इस फिल्म के माध्यम से उनका अंदाज दिखाई देगा। मैं सुरेखा जी को ज्यादा तकलीफ नहीं देना चाहता था। उन पर काम का बोझ ज्यादा न पड़े, इसलिए मैंने उनसे लंबे डायलॉग नहीं बुलवाए। वो जितना शूट कर सकती थीं, हमने उतना ही शूट किया। लेकिन वो बड़ी हिम्मती थीं। वो गाने में नहीं होते हुए भी व्हील चेयर पर सेट पर आती थीं।”

शूटिंग के लिए सुरेखा बीमारी में भी दिल्ली से 7 घंटे दूर शूट करने गईं

सुरेखा को फिल्म की सबसे बड़ी स्टार बताते हुए सौरभ आगे कहते हैं, “उन्होंने पहली बार ढाई घंटे तक नरेशन सुना, उस समय वो हॉफ पैरालाइज थीं। उन्होंने फिल्म के लिए ‘हां’ भी कह दिया था। लेकिन तीन दिन बाद उनका फोन आया और उन्होंने फिल्म के लिए न बोल दिया, यह सुन कर मेरी नींद उड़ गई थी। फिर मैं उसी दिन रात 10 बजे उनके घर पर जाकर उनसे मिला। फिल्म न करने के बारे में उन्होंने बताया कि ‘मेरे डॉक्टर काम करने के लिए इजाजत नहीं दे रहे हैं।’ फिर मैंने उनसे कहा कि अगर आप फिल्म नहीं कर सकतीं, तब बताइए आपकी जगह मैं किसे कास्ट करूं? इतना सुनकर वो रो पड़ीं और फिर वो काम करने के लिए तैयार हो गईं। दिल्ली से 7 घंटे दूर शूट करने गईं। फिल्म का बजट कम था। इस पर कहने लगीं कि पैसे की बात मेरे मैनेजर से मत करना वरना वो गुस्सा करेंगे। इतनी को-ऑपरेटिव थीं वो।”

सुरभि ज्योति ने उन्हें जिंदादिल इंसान कहा

सुरेखा सीकरी को याद करते हुए सुरभि ज्योति ने कहा, “उनकी तबियत बहुत ठीक नहीं थी, लेकिन उनके जज्बे में कोई कमी नहीं थी। वो जिंदादिल इंसान थीं। अपने इनपुट खुद देती थीं। ऐसा नहीं था कि उनका होना काफी है, बल्कि वो अपना हंड्रेड पर्सेंट देती थीं।”

खबरें और भी हैं…



Source link