क्या सेकेंड हैंड Electric Car खरीदना होगा सही? पहले जान लें इसके फायदे और नुकसान

0
28


हाइलाइट्स

पुरानी इलेक्ट्रिक कार के गिने चुने विकल्प उपलब्ध है. इसकी मांग भी अधिक नहीं है.
धीरे धीरे इसकी रेंज कम हो जाती है. टॉप स्पीड में भी कमी देखने को मिलती है.
नई तकनीक आने के बाद पुरानी इलेक्ट्रिक कार की रीसेल वैल्यू कम हो जाती है.

कार खरीदना हर किसी का सपना होता है. भारत ही नहीं दुनिया के कई देशों में अलग-अलग कार निर्माता कंपनी प्रत्येक दिन शानदार लुक और डिजाइन के साथ कारें लॉन्च करती है. आज के समय में पेट्रोल और डीजल की कीमत में बढ़ोतरी होने के कारण ज्यादातर लोग इलेक्ट्रिक की तरफ अपना रुख कर रहे हैं. लेकिन इसकी कीमत डीजल और पेट्रोल इंजन के मुकाबले काफी ज्यादा है. वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग रेंज के कारण इसे नहीं खरीद रहे हैं.
पुरानी पेट्रोल और डीजल कारें तो लोग खरीदते ही हैं, लेकिन क्या इलेक्ट्रिक कार खरीदना एक फायदे का सौदा हो सकता है. इसे खरीदते समय इन बातों पर ध्यान देना जरूरी है.

यह भी पढ़ें: Car Problems: गाड़ी का स्टेयरिंग हो रहा है हार्ड तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं होंगे परेशान

सेकेंड हैंड इलेक्ट्रिक कार खरीदने के फायदे
सेकेंड हैंड इलेक्ट्रिक कार खरीदने के कई फायदे हैं. पेट्रोल और डीजल के मुकाबले इलेक्ट्रिक कार की कीमत ज्यादा होती है. वहीं अगर आप सेकेंड हैंड खरीद रहे हो तो इसके लिए बहुत कम पैसे खर्च करने पड़ते हैं. दरअसल आज के समय में बहुत कम ऐसे लोग हैं जो इलेक्ट्रिक कार खरीदकर इसे बेचना चाहते हैं. जो लोग बेच रहे हैं इसके पीछे की भी बड़ी वजह है. दरअसल इलेक्ट्रिक व्हीकल की रेंज कम होती है और इसे चार्ज के लिए भी काफी इंतजार करना होता है. इसी वजह से कुछ लोग इसे बेचना चाहते हैं. ऐसे में कम कीमत में इलेक्ट्रिक व्हीकल मिल जाती है. 

सेकेंड हैंड इलेक्ट्रिक कार खरीदने के नुकसान
सेकेंड हैंड इलेक्ट्रिक कार खरीदने के फायदे के साथ ही इसके कई नुकसान भी हैं. आज के समय में बहुत सारी कारें नई नई टेक्नोलॉजी के साथ लॉन्च हो रही है. एडवांस टेक्नोलॉजी की वजह से कीमतों में भी बढ़ोतरी देखने को मिलती है. सिर्फ इतना ही नहीं कंपनी लगातार इसमें सुधार कर रही है. रेंज और टॉप स्पीड की बात करें तो धीरे-धीरे यह भी बढ़ती जा रही है. ऐसी स्थिति में पुरानी कार खरीदने पर रेंज और कई एडवांस फीचर्स के साथ समझौता करनी पड़ेगी.

यह भी पढ़ें: केवल 280 रुपये खर्च कर बच सकेंगे बड़े हादसे से, जानें क्या है ये मामला

पुरानी कार खरीदना फायदे का सौदा है या नहीं
पुरानी कार खरीदना फायदे का सौदा है या नहीं दोनों के फायदे और नुकसान जानने के बाद आपको यह तय करने में काफी आसानी होगी. इसके अलावा कई ऐसी बातें हैं जिसे जानना आपके लिए बेहद जरूरी है. दरअसल पुरानी इलेक्ट्रिक कार के गिने-चुने विकल्प उपलब्ध हैं. यह टेक्नोलॉजी भी अभी नई है लोग इसे बेचना नहीं चाहते हैं. इसकी रीसेल वैल्यू काफी कम हो जाती है. इलेक्ट्रिक व्हीकल की रेंज में धीरे-धीरे कमी आती है. नई बैटरी बदलने के लिए हजारों रुपए खर्च करने पड़ते हैं. 

Tags: Auto News, Car Bike News, Electric Car



Source link