खत्म हो गया टीम इंडिया के इन घातक खिलाड़ियों का टी20 करियर! अब वापसी होगी नामुमकिन

0
95


नई दिल्ली: टी20 क्रिकेट को हमेशा से ही बल्लेबाजों का खेल माना जाता है. यहां जब बल्लेबाज चौके और छक्के लगाता है तब दर्शक रोमांचित होते हैं. टी20 क्रिकेट में हमेशा ही बल्लेबाजों का राज रहा है. क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में सिर्फ कुछ गेंद में ही मैच का रुख बदल जाता है. भारत ने दुनिया के कुछ बेहतरीन टी20 खिलाड़ी दिए हैं, जिनमें महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, रोहित शर्मा  और जसप्रीत बुमराह का नाम आता है. टीम इंडिया में लगातार कॉम्पिटिशन बढ़ रहा है, जिससे यहां जगह बनाना बहुत ही मुश्किल काम माना जाता है. ऐसे में भारतीय टीम के कुछ खिलाड़ियों का टी20 करियर खत्म होने की कगार पर है. आइए जानते हैं, इन खिलाड़ियों के बारे में. 

1. केदार जाधव 

केदार जाधव ने करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अपनी टी20 डेब्यू किया था. जाधव पिछले चार साल से भारत की टी20 टीम का हिस्सा नहीं हैं. उन्होंने भारत के लिए 9 टी20 मैचों में 122 रन बनाए हैं. केदार जाधव (Kedar Jadhav) 2010 से ही आईपीएल का हिस्सा रहे है. आईपीएल (IPL) में जाधव का प्रदर्शन बहुत ही साधारण रहा था. 2018 से 2020 तक जाधव सीएसके (CSK) के लिए खेले उसके बाद 2021 में उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद ने खरीद लिया था, लेकिन वो उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके. IPL 2021 में जाधव ने 6 मैचों में सिर्फ 55 रन बनाए है. जाधव की उम्र भी बढ़ रही है. ऐसे में उनकी 35 साल की उम्र और फॉर्म को देखते हुए टी20 क्रिकेट में उनकी वापसी असंभव नजर आ रही है. 

2. दिनेश कार्तिक 

दिनेश कार्तिक ने टीम इंडिया के लिए 2006 में अपना टी20 डेब्यू किया था , लेकिन अपने खराब प्रदर्शन की वजह से वो कभी भी टीम में स्थाई जगह नहीं बना पाए. महेंद्र सिंह धोनी जब तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेले उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले. कार्तिक ने भारत के लिए 32 टी20 मैचों में 399 रन बनाए हैं. दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) अब खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं. टीम इंडिया के साथ-साथ वह आईपीएल में भी कोई कमाल नहीं दिखा पाए हैं. आईपीएल 2021 में केकेआर (KKR) की तरफ से खेलते हुए दिनेश ने 17 मैचों में 223 रन बनाए हैं. वह पूरे सीजन रन बनाने के लिए तरसते रहे. कार्तिक ने केकेआर की कप्तानी बीच में ही छोड़ दी थी ताकि अपने खेल पर फोकस कर सकें, लेकिन उसका नतीजा कुछ भी नहीं निकला. अब कार्तिक 36 साल हो गए हैं इस उम्र में आकर कई क्रिकेटर रिटायरमेंट ले लेते हैं. ऐसे में टी20 क्रिकेट में उनकी वापसी असंभव नजर आ रही है. 

3. हरभजन सिंह 

भारत की 2007 टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम का हिस्सा हरभजन सिंह (Harbhajan Singh)  रहे हैं. हरभजन सिंह पिछले पांच सालों से टी20 क्रिकेट से बाहर हैं. उनकी गेंदों पर विपक्षी बल्लेबाज जमकर रन बना रहे हैं. कई युवा खिलाड़ियों ने आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में अपनी जगह बना ली, जिससे हरभजन के करियर पर तलवार लटकती हुई दिखाई दे रही है. हरभजन को उनके फैंस प्यार से उन्हें टर्बनेटर के नाम से बुलाते हैं. इस खिलाड़ी ने भारत के लिए 28 टी20 मैचों में 25 विकेट लिए हैं. 





Source link