चेहरे: रूमी जाफरी ने इमरान हाशमी को अमिताभ बच्चन से किया कंपेयर, बोले- वो वास्तव में अमित जी की तरह हैं

0
38


एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

फिल्म ‘चेहरे’ की रिलीज से पहले, डायरेक्टर रूमी जाफरी ने अपनी फिल्म और एक्टर अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी के बारे में एक इंटरव्यू में बात की और उनकी सिमिलरिटीज के बारे में बताया। साथ ही उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि फिल्म की मेन लीड्स के लिए कास्टिंग कैसे हुई। ‘चेहरे’ एक मर्डर मिस्ट्री है जिसमें रिया चक्रवर्ती, क्रिस्टल डिसूजा, सिद्धांत कपूर, अन्नू कपूर और रघुबीर यादव भी हैं।

रूमी ने की इमरान की तारीफ

रूमी ने कहा, “जब हमने अमिताभ बच्चन को ‘चेहरे’ के लिए फाइनल किया, तो हमने अन्य एक्टर्स की तलाश शुरू कर दी। मैं दूसरी लीड की तलाश कर रहा था और इमरान उस कैरेक्टर में फिट हो गए जिसकी मैंने कल्पना की थी। भले ही मैंने उनके साथ पहले कभी काम नहीं किया था, मैंने इंडस्ट्री में उनके बारे में बहुत कुछ सुना था। वो वास्तव में अमित जी की तरह हैं जब प्रोफेशनलइजम की बात आती है तब वो डेडिकेटिड हार्ड वर्क और अपने काम में किसी को इंटरफेयर करने की अनुमति नहीं देते हैं। वो अपने काम में बहुत इंवोल्वड हैं। मैं उनकी तरह किसी को चाहता था। जब मैंने उन्हें फिल्म के लिए संपर्क किया, तो उन्हें भी उनके कैरेक्टर से प्यार हो गया और वो बोर्ड पर आने के लिए खुश थे। इमरान का काम मेरी अपेक्षा से भी बेहतर निकला है।”

रूमी ने कहा फिल्म के लिए अमिताभ बच्चन ने किया था सपोर्ट किया

रूमी ने आगे कहा, “जब मैंने कहा कि मैं कुछ अलग करना चाहता हूं, तो मैं जितने भी प्रोड्यूसर्स से मिला, वो चाहते थे कि मैं अपने पिछले काम के जैसा कुछ करूं, जैसे ‘बीवी नंबर 1’, ‘मैंने प्यार क्यों किया’ या और कुछ। तब अमिताभ बच्चन जी आए और उन्होंने मेरे वर्जन का सपोर्ट किया। उन्होंने मुझसे कहा कि अगर मैं कुछ नया करने की कोशिश करना चाहता हूं, तो मुझे यह करना चाहिए और वो मेरा सपोर्ट करने के लिए वहां थे।”

फिल्म में अमिताभ बच्‍चन एक रिटायर्ड लॉयर के रोल में नजर आएंगे

फिल्म में अमिताभ बच्‍चन का किरदार रिटायर्ड लॉयर होने के साथ-साथ मिजाज से बड़ा आर्टिस्‍ट‍िक भी है। वो बहुत पढ़ा लिखा और पोएट्री का शौक रखने वाला इंसान है। उसे बड़ी सजी संवरी चीजों का शौक होता है। फिल्‍म में अमिताभ को बहुत फैशनेबल दिखाया गया है। हालांकि कहानी एक ही रात की है तो मेकर्स को ज्‍यादा कॉस्‍ट्यूम चेंज नहीं करने पड़े। ऐसे में इसे ऑथेंटिक दिखाने के लिए फिल्म में महज तीन से चार कॉस्‍ट्यूम ही चेंज करने पड़े।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here