जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर प्रविण तोगड़िया का बड़ा बयान, कहा- मंदिर टूटना हिंदुओं को अपमानित करने जैसा

0
17


जयपुर: अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने रविवार को कहा कि मंदिरों का तोड़ा जाना हिंदुओं को अपमानित करने का प्रयास है. तोगड़िया ने राजस्थान के अलवर जिले में अतिक्रमण हटाने के दौरान एक मंदिर तोड़े जाने की घटना के संदर्भ में उक्त बात कही.

स्थानीय लोगों का दावा है मंदिर 300 साल पुराना था और उसे गिराए जाने के दौरान गर्भगृह में स्थापित देव मूर्तियों का निरादर किया गया. तोगड़िया ने कहा, ‘‘यह दुखद है… मंदिर नहीं टूटने चाहिए. कांग्रेस और भाजपा दोनों एक मत हों कि देश में जहां भी उनकी सरकार है वहां मंदिर नहीं टूटेंगे क्योंकि मंदिर टूटना हिंदुओं को अपमानित करने का प्रयास है.’’

राजगढ़ नगरपालिका क्षेत्र में मंदिर को ढहाने को लेकर विवाद

गौरतलब है कि अलवर के राजगढ़ नगरपालिका क्षेत्र में 14 अप्रैल को अतिक्रमण हटाने के अभियान के दौरान एक प्राचीन मंदिर को ढहाने को लेकर विवाद हो गया था. इसे लेकर कांग्रेस-भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर अब भी जारी है.

देश के धार्मिक स्थलों पर अवैध रूप से लगे लाउडस्पीकर हटाने और वैध रूप से लगे लाउडस्पीकर की आवाज धीमी या सीमा के भीतर रखने को लेकर चलाए गए अभियान पर तोगड़िया ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के आदेशों-निर्देशों का पालन होना चाहिए.

जनसंख्या नियंत्रण विधेयक लाए जाने को लेकर दिया बल

उन्होंने कहा कि देश की सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारे जाने चाहिए और यदि मस्जिद में लाउडस्पीकर रखना है तो उसकी आवाज परिसर से बाहर सुनाई नहीं देनी चाहिए. महंगाई के संबंध में विश्व हिन्दू परिषद के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि बढ़ती महंगाई का अलम यह है कि देश में आम आदमी आत्महत्या करने के कगार पर आ गया है. 

उन्होंने कहा, ‘‘मंहगाई पर लगाम लगाने के लिए केन्द्र और राज्य सरकारों को पेट्रोल/डीजल पर उत्पाद शुल्क तथा वैट कम करना चाहिए.’’ तोगड़िया ने जनसंख्या नियंत्रण विधेयक लाए जाने की जरूरत पर भी बल दिया.

ये भी पढ़ें- कश्मीरी पंडितों के बच्चों को कर्नाटक में मिलेगी मुफ्त शिक्षा, इतने बच्चों को मिल चुका है एडमिशन

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here