जर्सी: राम गोपाल वर्मा ने शाहिद की फिल्म के खराब रिस्पॉन्स पर किया रिएक्ट, बोले- रीमेक करने के बजाय डब करें

0
9


9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बॉलीवुड एक्टर शाहीद कपूर की फिल्म ‘जर्सी’ हाल ही में रिलीज हुई है। ये फिल्म ऑडियंस के बीच कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई है। अब ‘जर्सी’ के फ्लॉप होने के बाद फिल्ममेकर राम गोपाल वर्मा ने सोशल मीडिया के जरिए बॉलीवुड और साउथ की फिल्मों को लेकर अपनी राय दी है। साथ ही उन्होंने कहा है कि साउथ की फिल्मों का हिंदी रीमेक बनाने से अच्छा है कि ओरिजिनल फिल्म को हिंदी में ही डब किया जाए।

राम गोपाल वर्मा बोले डब फिल्में कर रही हैं कई बेहतर

राम गोपाल वर्मा ने अपने पोस्ट में लिखा, “हिंदी में फिल्म ‘जर्सी’ का रीमेक एक दुर्भाग्य को दिखाता है, क्योंकि ये कई बार साबित हो चुका है कि ‘पुष्पा’, ‘आरआरआर’ और ‘केजीएफ 2’ जैसी डब फिल्में कहीं बेहतर कर रही हैं, अगर कंटेंट अच्छा है तो।”

राम गोपाल वर्मा ने अपने अगले पोस्ट में लिखा, “यदि तेलुगु से नानी की ओरिजिनल ‘जर्सी’ को डब करके रिलीज किया जाता तो प्रोड्यूसर्स को केवल 10 लाख का खर्च आता, जबकि हिंदी में रीमेक की लागत 100 करोड़ की थी, जिसके रिजल्ट में देखा जाए तो रुपए, समय और एफर्ट का नुकसान हुआ है।”

राम गोपाल वर्मा बोले फिल्मों को डब करके रिलीज करना चाहिए

राम गोपाल वर्मा अपने आखिरी पोस्ट में लिखते हैं, “फिल्म ‘पुष्पा’, ‘आरआरआर’ और ‘केजीएफ 2’ जैसी डब फिल्मों की शानदार सफलता के बाद, अच्छे कंटेंट वाली कोई भी साउथ फिल्म रीमेक के लिए नहीं बेचेगी, क्योंकि हिंदी ऑडियंस द्वारा कंटेंट और रीजनल स्टार्स दोनों को पसंद किया जा रहा है। इस कहानी का मोरल ये है कि डब फिल्मों को रीमेक करने के बजाय डब करके रिलीज किया जाए, क्योंकि ये क्लियर है कि ऑडियंस किसी भी चेहरे या किसी भी सब्जेक्ट के साथ फिल्म देखने में इंटरेस्टड है।”

14 अप्रैल को रिलीज हुई थी फिल्म ‘जर्सी’

गौतम तिन्नुरी के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में शाहिद के साथ-साथ मृणाल ठाकुर और पंकज कपूर भी अहम भूमिका में हैं। फिल्म में मृणाल उनकी पत्नी की भूमिका में हैं। साथ ही शाहिद के पिता पंकज कपूर फिल्म में कोच की भूमिका निभा रहे हैं। फिल्म में दिखाया है कि कैसे एक खिलाड़ी क्रिकेट छोड़ देता है और बेटे की जर्सी खरीदने के लिए दोबारा मैदान में उतरता है। ये फिल्म 14 अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here