जावेद अख्तर का तंज: कंगना के सपोर्टर्स के लिए बोले-उन्हें बुरा क्यों लगेगा जिनका आजादी की लड़ाई से कोई लेना-देना नहीं था

0
13


17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जावेद अख्तर ने कंगना रनोट के ‘भीख में आजादी’ वाले कमेंट पर ट्वीट किया है। गीतकार जावेद ने गुरुवार को लिखा- “यह पूरी तरह से समझा जा सकता है, अगर कोई हमारी आजादी को सिर्फ ‘भीख’ कहे, तो उन्हें बुरा क्यों लगेगा जिन लोगों का स्वतंत्रता आंदोलन से कोई लेना-देना ही नहीं था।”

कंगना हुई कई FIR, पद्मश्री वापस लेने की मांग
कंगना के खिलाफ पूरे देश में शिकायत दर्ज हुई हैं। ये शिकायतें कंगना के उस विवादित बयान पर हुई हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत को आजादी भीख में मिली है और असल आजादी 2014 में मिली है। एक्ट्रेस का बयान सामने आते ही लोगों ने उनसे पद्मश्री वापस लेने की डिमांड की है।

पहले से चल रहा है जावेद कंगना का पंगा
जावेद अख्तर ने पिछले साल 2 नवंबर 2020 को जावेद अख्तर ने मुंबई की अंधेरी मजिस्ट्रेट कोर्ट में कंगना के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था। कंगना ने एक इंटरव्यू में कहा था कि जावेद बॉलीवुड में गुटबाजी करते हैं और ऋतिक रोशन के मामले में उन्हें धमकी भी दी थी। इसके बाद जावेद अख्तर ने अपनी वकील निरंजन मुंदरगी के जरिए कंगना के खिलाफ आईपीसी की धारा 499 और 500 के तहत मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था।

लगातार अपने बयान को डिफेंड कर रहीं
कंगना लगातार अपने भीख में आजादी वाले बयाने को डिफेंड कर रही हैं। इसके लिए उन्होंने कहा है कि यदि कोई उन्हें गलत साबित कर दे तो वे अपना पद्मश्री अवॉर्ड लौटा देंगी। इतना ही नहीं उन्होंने महात्मा गांधी पर नेताजी और भगत सिंह का सपोर्ट न करने की बात कही है। उन्होंने यह भी कहा कि इस बात के सुबूत भी हैं कि गांधी चाहते थे भगत सिंह को फांसी हो।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here