टेलर के फिक्सिंग विवाद पर अश्विन का बड़ा बयान, इस एक ट्वीट से मचाई सनसनी

0
78


नई दिल्ली: जिम्बाब्वे के पूर्व इंटरनेशनल क्रिकेटर ब्रेंडन टेलर ने फिक्सिंग का बम फोड़ते हुए वर्ल्ड क्रिकेट को हैरान कर दिया है. 9,863 इंटरनेशनल रन बनाने वाले बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर ने सोशल मीडिया पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट शेयर कर चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. इस मुद्दे पर अब टीम इंडिया के दिग्गज गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने एक बड़ा बयान दिया है. 

अश्विन के बयान से सनसनी

भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर का भारतीय व्यवसायी द्वारा स्पॉट फिक्सिंग के लिए ‘ब्लैकमेल’ करने वाला खुलासा सभी के लिए आंख खोलने वाला है और ऐसे में जब कोई अन्य विकल्प पर दांव लगाना हो तो वहां से चुपचाप निकलने में ही भलाई है. टेलर ने सोमवार को सनसनीखेज खुलासा किया उनसे 2019 में एक भारतीय व्यवसायी ने स्पॉट फिक्सिंग के लिए संपर्क किया था तथा इसकी रिपोर्ट देर से करने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) उन पर कई वर्षों का प्रतिबंध लगा सकती है.

अश्विन का ट्वीट वायरल

अश्विन ने इस संदर्भ में ट्वीट किया, ‘जागरूकता फैलाओ. पोकर टेबल पर हमारे सामने वाला व्यक्ति हमें दांव लगाने या छोड़ने का विकल्प देता है. ऐसे में टबल छोड़ना ही महत्वपूर्ण है. ईश्वर ब्रेंडन और उनके परिवार को शक्ति प्रदान करे.’ टेलर ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए दावा किया कि भारतीय व्यवसायी ने उन्हें भारत में ‘प्रायोजक’ दिलाने और जिम्बाब्वे में एक टी20 टूर्नामेंट की संभावित योजना पर चर्चा करने के लिए आमंत्रित किया था. उन्होंने इस व्यवसायी  के नाम का खुलासा नहीं किया लेकिन कहा कि उन्हें अक्टूबर, 2019 में 15,000 डॉलर की पेशकश की गई थी.

 

क्रिकेटर ने फोड़ा फिक्सिंग बम

ब्रेंडन टेलर ने खुलासा किया कि एक भारतीय बिजनेसमैन ने कोकीन ड्रग्स लेते हुए उनका वीडियो बनाया और फिर उन्हें स्पॉट फिक्सिंग के लिए ब्लैकमेल करने लगा. ऐसा न करने पर उन्हें वीडियो वायरल करने की धमकी भी दी जाती थी. ब्रेंडन टेलर के मुताबिक हालांकि उन्होंने कभी भी उस फिक्सर की बात नहीं मानी और सभी मैच पूरी ईमानदारी से खेले. ये मामला अक्टूबर 2019 का है, जब ब्रेंडन टेलर स्पॉन्सरशिप डील और जिम्बाब्वे में टी20 टूर्नामेंट के बारे में बातचीत करने के लिए भारत आए थे.

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here