तूफान में मोबाइल का इस्तेमाल है घातक! Xiaomi ने टेस्ट किया यह मिथक, देखें वीडियो

0
25


इंटरनेट मिथकों से भरा है और ऐसा ही एक मिथक है कि हमें तूफान के समय फोन को खुले में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। लेकिन क्या यह बात सच है? Xiaomi ने एक टेस्ट के जरिए इस मिथक को जांचा है और पता लगाने की कोशिश की है कि क्या वाकई में तूफान में फोन इस्तेमाल करने से हमें और हमारे फोन को कोई नुकसान पहुंच सकता है, या यह केवल कोरा झूठ है। Xiaomi पिछले कुछ समय से स्मार्टफोन को लेकर दुनियाभर में चल रहे कई मिथकों के बारे में लोगों को जागरुक कर रही है। अब, कंपनी ने एक नए वीडियो के जरिए बेहद रोचक जानकारी शेयर की है।

Xiaomi ने YouTube Shorts के जरिए तूफान में स्मार्टफोन को इस्तेमाल न करने के मिथक की जांच की है। चाइनीज टेक कंपनी ने अपनी #XiaomiAcademy सीरीज के रूप में एक नया शॉर्ट्स वीडियो साझा किया है, जिसका टाइटल है (अनुवादित) “क्या आंधी-तूफान स्मार्टफोन के उपयोग को प्रभावित कर सकता है?”

वीडियो में हम देख सकते हैं कि कंपनी ने एक खास सेटअप तैयार किया है, जिसमें तूफानी बिजली के विकल्प के तौर पर Tesla Coil का इस्तेमाल किया गया है। इन कॉइल्स के जरिए “बिजली” गिरने की नकल हुई, जो प्रयोग में सीधा एक शाओमी फोन के से टकरा रही थीं। 

हैंडसेट पर बिजली गिरने के बावजूद डिवाइस पर एक वीडियो चलता दिखाई दे रहा है। इस प्रयोग से पता चला कि बिजली के झटको से फोन के प्रदर्शन या किसी अन्य व्यवहार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। इसके बाद, Xiaomi का कहना है कि “यह साबित करता है कि तूफान स्मार्टफोन के उपयोग को प्रभावित नहीं करता है।”

इसके बाद, Xiaomi ने एक फोन कॉल भी किया और कॉल क्वालिटी को भी जांचा और इसके साथ भी कोई समस्या नहीं थी। शाओमी ने स्पष्ट किया कि इस मिथक की संभावना पुराने जमाने के तार वाले टेलीफोन से होती है, क्योंकि आंधी के दौरान अपने तार वाले फोन का उपयोग करते समय बिजली गिरने से लोगों की मौत के बेहद दुर्लभ मामले सामने आए थे।



Source link