पर्यावरण बचाने की पहल: महाराष्ट्र बोर्ड स्कूल में कक्षा 1 से 8 तक के कोर्स में शामिल होगा ‘मांझी वसुंधरा पाठ्यक्रम’, इसे यूनिसेफ द्वारा विकसित किया गया

0
86


  • Hindi News
  • Career
  • ‘Majhi Vasundhara Curriculum’ Will Be Included In The Curriculum Of Children From Class 1 To 8 In Maharashtra Board School, It Has Been Developed By UNICEF

3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

महाराष्ट्र बोर्ड ने स्कूल पाठ्यक्रम में नए विषय के तौर पर जलवायु परिवर्तन (Climate Change) को जोड़ने का फैसला लिया है। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने इस संबंध में स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ को “मांझी वसुंधरा पाठ्यक्रम” की एक कॉपी सौंपी है।

यूनिसेफ द्वारा विकसित किया गया है

महाराष्ट्र के पर्यावरण विभाग ने सोमवार को स्कूल शिक्षा विभाग और यूनिसेफ के साथ नए पाठ्यक्रम की शुरुआत के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इसमें जैव विविधता संरक्षण, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन और व्यक्तिगत व सामुदायिक स्वास्थ्य, जल संसाधन प्रबंधन के अलावा ऊर्जा, वायु प्रदूषण और जलवायु शामिल हैं। यह नया पाठ्यक्रम पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग और यूनिसेफ द्वारा विकसित किया गया है। इस पाठ्यक्रम को “मांझी वसुंधरा पाठ्यक्रम” नाम दिया गया है।

पर्यावरण के बारे में बढ़ाएगा जागरूकता

माझी वसुंधरा पाठ्यक्रम बच्चों को अपने पर्यावरण के साथ बेहतर तरीके से इंटरैक्ट करने में मदद करने के बारे में है। यह पर्यावरण के सम्मान, रक्षा और बचाने के लिए युवाओं को तैयार करने में मदद करेगा। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा, “स्टडी 1-8 के लिए इस कोर्स में जैव विविधता संरक्षण, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, जल संसाधन प्रबंधन, ऊर्जा, वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन शामिल होंगे।”

साथ ही कहा कि, जलवायु परिवर्तन के बारे में जागरूकता बढ़ाने और प्राथमिक स्कूली शिक्षा में पृथ्वी के प्रति जिम्मेदारी पैदा करने के लिए यूनिसेफ की मदद से माझी वसुंधरा पाठ्यक्रम विकसित किया गया है।

कक्षा 1 से 8 तक होगी पढ़ाई

इसे ग्रेड I-VIII के छात्रों के बीच जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से पेश किया जा रहा है। पारंपरिक और स्थानीय ज्ञान के बीच संतुलन बनाकर छात्रों के बीच यह जागरूकता बढ़ाई जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link