पढ़ाई के साथ ये 7 चीजें भी करें: एग्जाम की तैयारी के दौरान माइंड को स्टेबल रखें; गाने सुनें और एक्सरसाइज करें

0
34


एक घंटा पहले

योगस्थः कुरु कर्माणि सङ्गं त्यक्त्वा धनञ्जय |

सिद्धयसिद्धयोः समो भूत्वा समत्वं योग उच्यते ||

नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि नैनं दहति पावकः।

न चैनं क्लेदयन्त्यापो न शोषयति मारुतः॥

~ भगवद गीता

इस श्लोक में श्रीकृष्ण अर्जुन से कहते हैं कि सफल और असफल होने की आसक्ति त्यागकर समभाव होकर अपने कर्मों को करो। इस समता की भावना को ही योग कहा जाता है। कृष्ण आत्मा की अमरता को बताते हुए कहते हैं कि यह अविनाशी और अमर है।

करिअर फंडा में स्वागत!

लाइफ की हर लड़ाई में, हर संघर्ष में और हर यात्रा में अपने मन पर आपका कंट्रोल है, तो सक्सेस के चांस अपने आप बढ़ जाते हैं। कॉम्पिटिटिव एग्जाम एक संघर्ष ही है, एक लड़ाई ही है। इसमें एक स्थिर मन एसेट होता है।

मन में डर और डर से स्ट्रेस

हमारे माइंड को अनस्टेबल करने में डर की बड़ी भूमिका होती है। डर के कारण हमारा माइंड एक के बाद एक नए नेगेटिव थॉट्स बनाने लगता है। अब चूंकि इंडिया का पूरा एग्जाम सिस्टम डर और चिंता से भरा रहता है, कई टीचर और पेरेंट्स स्टूडेंट्स को पढ़ने के लिए इंस्पायर करने के लिए डर या डांट का उपयोग करते हैं।

इंडिया के कॉम्पिटिटिव एग्जाम एक अलग ही माहौल बनाते हैं। कॉम्पीटीशन और कम्पेरिजन के कारण पेरेंट्स से लेकर स्टूडेंट्स तक, हर कोई डीप स्ट्रेस में ही रहता है।

कैसे रखें माइंड स्टेबल और फियरलेस

मैंने खुद सबसे कठिन कॉम्पिटिटिव एग्जाम क्लियर किए हैं, कुछ टिप्स आपसे शेयर करता हूं

1) डेली टाइम टेबल और बढ़िया नींद: एक अनुशासित टाइम टेबल के बिना आप कुछ भी हासिल नहीं कर पाएंगे। हर स्टूडेंट का अपना स्टडी पैटर्न होता है और इसलिए डेली टाइम टेबल भी अलग-अलग होंगे। पेरेंट्स और टीचर्स को ये समझते हुए स्टूडेंट्स को मदद करनी चाहिए। इसके अलावा, रोजाना आइडियली 7 घंटे की अच्छी नींद जरूर लें, नहीं तो आपकी एफिशिएंसी कभी स्टेबल नहीं रहेगी। ये एक भ्रम है कि कोई इंसान महीनों कम नींद लेकर भी कुशल रह सकता है!

2) गलत गोल-सेटिंग न करें: कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी में छोटे-छोटे गोल बनाएं। लंबी-लंबी छलांगें लगाने के सपने देखने से कुछ नहीं होगा, सिवाय बढ़ते डर के। जो हो रहा है उसे स्वीकारें और अपने पेरेंट्स को बताएं (न कि छुपाएं और झूठ बोलें)।

3) नियमित ब्रेक लें: प्रिपरेशन फेज में तय समय पर ब्रेक लेते रहे और उन ब्रेक्स में पढ़ाई के बारें में न सोचें। ब्रेक का गोल होगा माइंड रिलैक्स करना, न कि डर और स्ट्रेस बढ़ाना। इसलिए स्क्रीन टाइम कम ही रखें और खेलना-कूदना, घूमने जाना समेत अन्य कार्य करें।

4) डेली एक्सरसाइज करें: माइंड और बॉडी आपस में कनेक्टेड होते हैं। रोजाना 30 मिनट किसी प्रकार की एक्सरसाइज (व्यायाम) जरूर करें। आप फास्ट वॉकिंग, रनिंग, स्विमिंग, साइकिलिंग कर सकते हैं या आप कोई भी फिजिकल गेम खेल कर माइंड फ्रेश कर सकते हैं। ऐसा करते समय मोबाइल फोन से दूर रहें।

5) धीमा संगीत सुने: धीमा संगीत को सुनने में रुचि विकसित करना भी मन को एकाग्र और स्थिर करने का एक बढ़िया तरीका हो सकता है, खास तौर पर ADHD से पीड़ित लोगों के लिए। शुरू में ऐसा हो सकता है की धीमे म्यूजिक से आप को नींद आ जाए, लेकिन धीरे धीरे आप इसे एन्जॉय करने लगेंगे। यह मन को स्थिर करने हेल्पफुल होता है। ट्राय करके देखें।

6) लाइफ की छोटी-छोटी चीजों का आनंद ले: हर दिन सांस लेने और छोड़ने पर ध्यान केंद्रित करें। घर से पढ़ते समय, कुछ समय के लिए बाहर कदम रखें और पूछें- हवा की गंध कैसी होती है? आसमान का रंग क्या है? एक बादल को उड़ते हुए देखें या जमीन पर बारिश की बूंदों को देखें। अपने आस-पास क्या हो रहा है। किसी व्यक्ति को चलते हुए देखें, पेड़ पर किसी गिलहरी को देखे, कोई कागज का टुकड़ा हवा में कैसे उड़ रहा है, तीन चीजों के नाम सोचे जिनके लिए आप आभारी हैं। और फिर जब आप अपनी पुस्तकों या कंप्यूटर पर लौटते हैं, तो तीन गहरी सांसें लें और आगे के कार्यों में लग जाएं।

7) फूड और डाइट: खाना स्किप करने से बचें। परीक्षा के समय भोजन छोड़ने से बीमारी, चिड़चिड़ापन और कम ऊर्जा हो सकती है। जरूरी है कि आप अपना खाना समय पर खाएं। हेल्दी स्नैक्स खाएं – बादाम, भुने हुए सूरजमुखी, अलसी, भुने हुए फॉक्स नट्स, अनसाल्टेड पिस्ता का स्टॉक रखें। ताजा खाना खाएं – अपने आहार में ज्यादा से ज्यादा ताजे फल और सब्जियां शामिल करें। ये आपके शरीर को आवश्यक विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्वों की आपूर्ति करेंगे। जंक फूड खाने से बचें। हाइड्रेटेड रहें – खूब पानी पिएं और हाइड्रेटेड रहें। अपने अध्ययन डेस्क पर एक सिपर या पानी की बोतल रखें और उसे अपने साथ ले जाएं।

तो आज का करिअर फंडा यह है कि ‘स्टेबल और फियरलेस माइंड से कॉम्पिटिटिव एग्जाम परफॉरमेंस बहुत बेहतर बनाया जा सकता है’।

कर के दिखाएंगे !

इस कॉलम पर अपनी राय देने के लिए यहां क्लिक करें।

करिअर फंडा कॉलम आपको लगातार सफलता के मंत्र बताता है। जीवन में आगे रहने के लिए सबसे जरूरी टिप्स जानने हों तो ये करिअर फंडा भी जरूर पढ़ें…

READING HABIT के 8 अनूठे फायदे:जीवन को बेहतर बनाने में मदद करेंगी किताबें

क्लास 7 या 8 से ही मेडिकल-इंजीनियरिंग का बोझ:छोटे बच्चों की रुचि समझकर ही करवाएं अर्ली एज से तैयारी

8 क्रिएटिव फील्ड्स में शानदार करिअर:वोकेशनल एजुकेशन में क्रिएटिव कोर्स बहुत काम के

करिअर चुनने से पहले जानें अपना इंटरेस्ट:स्टूडेंट्स के करिअर चुनाव में पेरेंट्स और टीचर्स हैं अहम

गांधीजी का मूल मंत्र-FREEDOM FROM FEAR:करिअर में कम्फर्ट जोन से निकलना ही है भय से मुक्ति

MBA एंट्रेंस के लिए सबसे जरूरी टिप्स:5 सब्जेक्ट्स में फोकस्ड तैयारी दिलाएगी सफलता

प्रोफेशनल्स और स्टूडेंट्स के फायदे की 4 स्किल्स:इंटरनल व एक्सटर्नल स्किल्स बढ़ाने पर रोज काम करें

सिविल सर्विसेज में सफलता दिलाएंगे ये 10 टिप्स:UPSC और स्टेट सर्विसेज की तैयारी में ध्यान रखें ये बातें

IT सेक्टर में 5 नई फील्ड में मिलेंगे नए मौके:AI में है फास्ट ग्रोथ, डेटा साइंस करेगा बेस मजबूत

खबरें और भी हैं…



Source link