फीचर आर्टिकल: आज के प्रोफेशनल युग में रिसर्च का इतना महत्व क्यों है? चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी रिसर्च और इनोवेशन में सबसे आगे

0
13


  • Hindi News
  • Career
  • Why Is Research So Important In Today’s Professional Age? Chandigarh University At The Forefront Of Research And Innovation

17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

आदिम काल से ही इनसान किसी न किसी रूप में रिसर्च करता रहा है। इंटरनेट के उपयोगकर्ताओं के सामने अवधारणाएं, आइडिया, या विचार आते रहते हैं जो उनकी दिलचस्पी के होते हैं, और जो उन्हें अधिक सीखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। जो लोग सीखने को महत्व देते हैं, उनके लिए रिसर्च करना महत्वपूर्ण ही नहीं- बल्कि आवश्यक भी है, भले ही वे किसी रिसर्च संगठन से जुड़े हों अथवा नहीं। स्टूडेंट्स और शिक्षाविदों सहित सभी प्रोफेशनल्स और गैर-प्रोफेशनल्स को रिसर्च करना चाहिए। रिसर्च से अनजानी बातों का पता चलता है, और आपको इस दुनिया को देखने के अलग-अलग दृष्टिकोण मिलते हैं। जब आप सीखने के प्रति गंभीर होते हैं, तो आप निरंतर आगे बढ़ते हैं। रिसर्च करने के लिए प्रेरणा अधिकतर, ज्यादा सीखने की इच्छा से मिलती है। भले ही आप खुद को अपनी इंडस्ट्री का एक्सपर्ट मानते हों, लेकिन सीखने के लिए हमेशा कुछ न कुछ नया जरूर होता है। रिसर्च आपको एक ठोस आधार प्रदान करती है जिस पर आप अपने आइडिया और विश्वास को स्थापित करते हैं। आप किसी चीज़ के बारे में पूरे विश्वास के साथ तब बोल सकते हैं, जब आप जानते हैं कि वह सच है। यदि आपने अपना होमवर्क कर रखा है तो किसी के लिए भी आपके तर्क में खामियां निकालना बहुत कठिन हो जाता है। इसके अलावा, रिसर्च आपको विभिन्न दृष्टिकोणों और नए आइडिया से भी परिचित कराती है। साथ ही यह विश्लेषण करने और निर्णय लेने के कौशल को भी बढ़ाती है।

रिसर्च और इनोवेशन को बढ़ावा देने में अग्रणी है चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

रिसर्च और इनोवेशन को बढ़ावा देने में अग्रणी है चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी भारत की उन अग्रणी और विख्यात यूनिवर्सिटी में से है जो अपने स्टूडेंट्स को प्रोफेशनल और शैक्षणिक प्रतिभा का अद्वितीय संयोजन प्रदान करती है। केवल दस वर्षों में ही, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (सीयू) ने खुद को भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज में से एक के रूप में स्थापित किया है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने QS एशिया रैंकिंग 2022 में एशिया की टॉप 1.7 फीसदी यूनिवर्सिटीज में अपनी शानदार उपस्थिति दर्ज की है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद (NAAC) द्वारा प्रतिष्ठित A+ मान्यता प्राप्त करने वाले देश के चुनिंदा 5% संस्थानों में से एक है।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी एक स्वागत योग्य और समावेशी वैश्विक वातावरण प्रदान करती है। संयुक्त रिसर्च और इनोवेशन के लिए, यूनिवर्सिटी का प्रतिष्ठित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों के साथ सहयोग है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में रिसर्च गतिविधियों की व्यापक और विस्तृत श्रंखला है, जिसके कारण यूनिवर्सिटी द्वारा 1500 से अधिक पेटेंट फाइल किए गए हैं।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के नाम एक और उपलब्धि, लॉन्च करेगी खुद का सैटेलाइट- चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने खुद का सैटेलाइट- चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी स्टूडेंट सैटेलाइट (CUsat)- लॉन्च करने की महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल करने की दिशा में भी कदम बढ़ा दिया है। CUsat के लिए ग्राउंड स्टेशन, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी का कल्पना चावला सेंटर फॉर रिसर्च इन स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी, स्थापित किया गया है ताकि स्टूडेंट्स को स्पेस साइंस और सैटेलाइट डेवलपमेंट के क्षेत्र में बेहतरीन शैक्षणिक अनुभव प्रदान किया जा सके।

https://www.youtube.com/watch?v=qK_btgYEFS4

नए उद्यमी पैदा करने के लिए टेक्नोलॉजी बिजनेस इन्क्यूबेटर

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी का टेक्नोलॉजी बिजनेस इन्क्यूबेटर वह स्थान है जहां पर इनोवेशन और आंत्रप्रेन्योरशिप को बढ़ावा दिया जाता है। टेक्नोलॉजी बिजनेस इन्क्यूबेटर, अपना बिजनेस शुरू करने की इच्छा रखने वाले महत्वाकांक्षी लोगों को कोचिंग और वित्तीय सहायता प्रदान करने वाला एक अत्याधुनिक प्लेटफार्म है। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स को शैक्षणिक चुनौतियों और विविधतापूर्ण संस्कृति से परिचित करवाकर सामाजिक रूप से जागरूक बनने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। यहां स्टूडेंट्स को अपनी पढ़ाई, सामाजिक जीवन, और करियर डेवलपमेंट का भार खुद संभालने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

CUCET के बारे में जानकारी

CUCET (चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेस टेस्ट), NAAC द्वारा A+ मान्यता प्राप्त चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित किया जाने वाला राष्ट्रीय स्तर का ऑनलाइन एंट्रेस टेस्ट है। यह B.E, बी.फार्म, MBA, इंटीग्रेटेड लॉ प्रोग्राम्स (BA+LLB, BBA+LLB, BCom+LLB), B.Sc (ऑनर्स) एग्रीकल्चर, फार्म D, मास्टर ऑफ फार्मेसी (फार्मास्युटिक्स), मास्टर ऑफ फार्मेसी (फार्माकोलॉजी), मास्टर ऑफ फार्मेसी (इंडस्ट्रियल फार्मेसी), B.Sc. नर्सिंग, इंजीनियरिंग, फार्मेसी, एग्रीकल्चर और इंटीग्रेटेड लॉ, के अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम्स, एमबीए, मास्टर ऑफ लॉ और अन्य में प्रवेश लेने के लिए एक अनिवार्य टेस्ट है। टैलेंट में निवेश करने के आइडिया के साथ CUCET, प्रतिभावान स्टूडेंट्स को वित्तीय सहायता भी उपलब्ध कराता है।

खबरें और भी हैं…



Source link