फीचर आर्टिकल: आने वाले डिजिटल युग के लिए युवाओं को तैयार करने में जुटी केरल डिजिटल यूनिवर्सिटी

0
14


  • Hindi News
  • Career
  • Kerala Digital University Engaged In Preparing Youth For The Coming Digital Age

9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

केरल सरकार को भविष्य के लिए दूरदर्शी सोच के साथ देश का पहला डिजिटल विश्वविद्यालय स्थापित करने का श्रेय जाता है। जब वैश्विक आईटी क्रांति ने देश में कदम भी नहीं रखा था तब केरल में देश का पहला आईटी पार्क बनाया गया था। अब तीन दशक के बाद केरल सरकार ने एक और उपलब्धि हासिल की है।

केरल यूनिवर्सिटी ऑफ डिजिटल साइंस, इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी के रूप में देश की पहली ऑन-कैम्पस डिजिटल यूनिवर्सिटी देश के युवाओं के लिए उज्जवल भविष्य की नींव तैयार करने में एक और महान कदम है। तीस वर्षों के अंतराल के बावजूद आईटी पार्क और डिजिटल यूनिवर्सिटी जैसे दोनों ही कदम अत्यंत महत्वाकांक्षी और दूरदर्शी कहे जा सकते हैं।

देश का पहला आईटी पार्क : टेक्नोपार्क

दुनियाभर में बड़े पैमाने पर उभर रही आईटी इंडस्ट्री के लिए देश के कौशल को तैयार करने के उद्देश्य से खोला गया था। वहीं डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल की स्थापना का उद्देश्य है कि आईटी कंपनियों की बढ़ती डिमांड पूरी करने के लिए इंडस्ट्री रेडी उम्मीदवार तैयार किए जा सकें ।

केरल यूनिवर्सिटी ऑफ डिजिटल साइंसेस, इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी (डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल) का आधिकारिक शुभारंभ फरवरी 2021 में हुआ था। केरल सरकार ने 20 वर्ष पुराने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट केरल (आईआईआईटीएम-के) को अपग्रेड करके इस विश्वविद्यालय की शुरुआत की है।

अगले तीन वर्षों में 8.6 करोड़ से भी ज्यादा प्रशिक्षित लोगों की आवश्यकता होगी

भारत और एशिया-प्रशांत क्षेत्र के अन्य देशों में अमेजन वेब सर्विस द्वारा किए गए अध्ययन के आधार पर तैयार की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक, जिस तेजी से तकनीक का विकास हो रहा है उसके हिसाब से चलने के लिए अगले तीन वर्षों में 8.6 करोड़ से भी ज्यादा लोगों को डिजिटल कौशल प्रशिक्षण लेने की आवश्यकता होगी।

क्लाउड कंप्यूटिंग, साइबर सिक्योरिटी और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) जैसे कौशल शीर्ष पर हैं जिनकी कंपनियों को अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए जरूरत है। सर्वे में यह भी कहा गया है कि आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस, डिजिटल मार्केटिंग, मौजूदा ऑन-प्रिमाइसेस सुविधाओं को क्लाउड में ले जाना, क्लाउड आर्किटेक्चर डिजाइन, और सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट जैसे कौशलों की मांग अगले कुछ वर्षों में और अधिक बढ़ने की संभावना है।

इन सबके लिए डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल जैसे प्रीमियर इंस्टीट्यूट की महत्ता सामने आती है। डीयूके (डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल) में वह सब कुछ है जो देश के अग्रणी शिक्षा संस्थान ऑफर कर सकते हैं। विश्व स्तरीय शिक्षण सुविधाएं, उच्चतम योग्यता प्राप्त फैकल्टी और कैम्पस प्लेसमेंट का एक शानदार ट्रैक रिकॉर्ड।

इसके अलावा डीयूके में छात्रों के पास पढ़ाई के दौरान इंडस्ट्री का अनुभव प्राप्त करने का भी सुनहरा मौका होता है जो अधिकांश दूसरे संस्थानों में हासिल नहीं होता। यूनिवर्सिटी का कई इंडस्ट्रीज के साथ इस संबंध में समझौता और सहयोग है। इससे छात्रों के अपना पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद इंडस्ट्री के लिए तैयार होने की गारंटी होती है।

डीयूके सरकार के अलावा कई सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के संगठनों को टेक्नोलॉजी संबंधी परामर्श मुहैया कराती है। इसकी वजह से यहां के छात्रों को इंडस्ट्री में काम करने का वास्तविक और मूल्यवान कार्य-अनुभव मिलता है। यूनिवर्सिटी का इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईआईएसटी), केरल सॉइल सर्वे डिपार्टमेंट, नेशनल ट्रांसपोर्ट प्लानिंग एंड रिसर्च सेंटर (नैटपैक, सेंटर फॉर वाटर रिसोर्स डेवलपमेंट एंड मैनेजमेंट जैसे कई संस्थानों के साथ निरंतर सहयोग है।

छात्रों के पास यूनिवर्सिटी के अंतर्गत मेकर विलेज, थिंकबेटर, इंडिया इनोवेशन सेंटर फॉर ग्रेफीन, इंटेलिजेंट आईओटी सेंसर्स और केरल ब्लॉकचेन एकेडमी जैसे विभिन्न उत्कृष्टता संस्थानों में इंटर्नशिप करने का भी विकल्प होता है।

यूनिवर्सिटी का प्रमुख फोकस पोस्ट-ग्रेजुएट और डॉक्टोरल लेवल पर कैपिसिटी बिल्डिंग पर है। इसमें प्रमुख रूप से – साइबर सिक्योरिटी, डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस एंड नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम एंड ऑटोमेशन, इमेज टेक्नोलॉजिस, ब्लॉकचेन, इकोलॉजिकल इन्फॉर्मेटिक्स, जियोस्पेशल एनालिटिक्स, रोबोटिक्स इत्यादि जैसे पाठ्यक्रम शामिल हैं। अत्याधुनिक प्रयोगशालाओं, क्लासरूम और लाइब्रेरी के अलावा डीयूके में वैश्विक पहचान रखने वाली फैकल्टी भी हैं जिनके रिसर्च पेपर्स दुनियाभर के प्रतिष्ठि जर्नल में प्रकाशित हो रहे हैं।

डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल में विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेकर बेहतर भविष्य सुनिश्चित करें

डिजिटल यूनिवर्सिटी केरल अपने प्रमुख पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम्स में एडमिशन के लिए आवेदन आमंत्रित कर रही है। इसमें एमटेक कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, एमटेक इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग और हाल ही में लॉन्च किया गया एमटेक प्रोडक्ट डिजाइन शामिल है।

एमएससी पाठ्यक्रमों में कंप्यूटर साइंस, इकोलॉजी, इलेक्ट्रॉनिक्स और डेटा एनालिटिक्स के अलावा एमएससी इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं। इस साल एक नया एमबीए प्रोग्राम भी लॉन्च किया गया है जिसमें बिजनेस एनालिटिक्स, डिजिटल गवर्नेंस, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, फाइनेंस, ह्यूमन रिसोर्सेस, इन्फॉर्मनेशन सिक्युरिटी मैनेजमेंट, मार्केटिंग, ऑपरेशन्स, सिस्टम्स, और टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट जैसे स्पेशलाइजेशन शामिल हैं। इसके अलावा ई-गवर्नेंस में पीजी डिप्लोमा प्रोग्राम भी ऑफर किया जा रहा है।

एडमिशन संबंधी अन्य जानकारियों के लिए आप निम्न लिखित लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।

www.duk.ac.in/admissions2022

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here