बीमारी के मारे, ये सितारे: खूबसूरत Selena Gomez का शरीर ही बन रहा था मौत का कारण, Friend को बचानी पड़ी थी जान

0
15


बीमारी के मारे, ये सितारे/सुरेंद्र अग्रवाल: दुनिया में ऐसी कई खतरनाक बीमारी हैं, जिनके बारे में जानकर विश्वास ही नहीं होता. ऐसी ही एक बीमारी अमेरिकी सिंगर और हॉलीवुड एक्ट्रेस सेलेना गोमेज (hollywood actress Selena Gomez) को हो गई थी. जिसके कारण उनका शरीर खुद को ही डैमेज करने लगा था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खूबसूरत एक्ट्रेस और सिंगर सेलेना गोमेज को 2014 में ल्यूपस नाम की बीमारी हो गई थी. जिससे बचाने के लिए उनकी बेस्ट फ्रेंड को आगे आना पड़ा था.

Best Friend ने कैसे बचाई थी सेलेना गोमेज की जान?
बता दें कि ल्यूपस एक जानलेवा बीमारी है, जिसका अभी तक कोई पुख्ता इलाज मौजूद नहीं है. इस बीमारी में शरीर के महत्वपूर्ण अंग खराब होने लगते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सेलेना गोमेज ने बताया था कि यह उनके लिए जिंदगी और मौत की लड़ाई थी. क्योंकि, ल्यूपस बीमारी ने उनकी किडनी खराब कर दी थी और उन्हें जल्द ही किडनी ट्रांसप्लांट की जरूरत थी. ऐसे में उनकी बेस्ट फ्रेंड Francia Raisa ने अपनी किडनी डोनेट करके उनकी जान बचाई थी.

‘बीमारी के मारे, ये सितारे’ सीरीज के सभी आर्टिकल पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Lupus: क्या है ल्यूपस बीमारी?
अमेरिका के ल्यूपस फाउंडेशन के मुताबिक, ल्यूपस एक क्रॉनिक बीमारी है, जिसके कारण शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन व दर्द की समस्या होने लगती है. यह एक ऑटोइम्यून डिजीज है, जिसमें शरीर का इम्यून सिस्टम गलती से खुद के शरीर की हेल्दी सेल्स को डैमेज करने लगता है. यह वही सिस्टम है, जो वायरस व बैक्टीरिया की पहचान करके उसे नष्ट करता है.

ल्यूपस के प्रकार – Types of lupus
Systemic lupus erythematosus (SLE): यह बीमारी का सबसे आम प्रकार है.
Cutaneous lupus: इसमें बीमारी सिर्फ स्किन को प्रभावित करती है.
Drug-induced lupus: कुछ दवाओं का सेवन करने से ल्यूपस जैसी बीमारी होना.
Neonatal lupus: यह एक दुर्लभ प्रकार है, जो ल्यूपस से संक्रमित महिलाओं के शिशु को प्रभावित करता है.

ये भी पढ़ें: बीमारी के मारे, ये सितारे: ऐसी खतरनाक बीमारी से जूझ रहा है ये एक्टर, जिसका ना है कोई इलाज और ना ही बचाव

ल्यूपस का कारण
ल्यूपस फाउंडेशन के मुताबिक, इस बीमारी के होने का सटीक कारण अभी तक नहीं पता चला है. हालांकि, एक्सपर्ट्स का मानना है कि ल्यूपस या इसकी तरह की अन्य ऑटोइम्यून डिजीज अनुवांशिक होती है, जो पीढ़ी दर पीढ़ी चल सकती है. यह संक्रामक बीमारी नहीं है, जो संपर्क के कारण फैलती हो.

Lupus Symptoms: ल्यूपस बीमारी के लक्षण
Lupus Foundation के मुताबिक, ल्यूपस का कोई शुरुआती लक्षण या संकेत नहीं है. हालांकि, इसमें अत्यधिक थकान, जोड़ों में दर्द या बटरफ्लाई रैशेज जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं. इसके अलावा, ल्यूपस शरीर के कई अंगों को प्रभावित करती है, जिसके कारण अलग-अलग लक्षण दिख सकते हैं.

ये भी पढ़ें: गर्दिश में सितारे: ‘डिस्को डांसर’ ने हेलीकॉप्टर से लगा दी थी छलांग, आजतक तक हैं बेहाल

Treatment of Lupus: ल्यूपस का इलाज
फाउंडेशन के मुताबिक, ल्यूपस को मैनेज करना मुश्किल है, जिसमें महीनों से लेकर साल तक लग सकते हैं. इसके इलाज में निम्नलिखित कदम उठाए जा सकते हैं. जैसे-

  1. जोड़ों में दर्द, सूजन और थकान जैसे लक्षणों को कंट्रोल या मैनेज करना
  2. शरीर के अंग, टिश्यू आदि को अटैक करने से इम्यून सिस्टम को रोकना
  3. किडनी, फेफड़े, दिल जैसे अंगों को बीमारी से बचाना
  4. अगर कोई अंग ल्यूपस के कारण डैमेज हो गया है, तो उसे ठीक करना
  5. स्टेरॉयड, एंटी-इंफ्लामेटरी, एंटी-मलेरियल्स आदि दवाओं का सेवन व अन्य

नोट- सूचित किया जाता है कि ‘गर्दिश में सितारे’ सीरीज का नाम बदलकर ‘बीमारी के मारे, ये सितारे’ कर दिया गया है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here