भास्कर इंटरव्यू: एक्टर राज अर्जुन बोले- मेरा फोकस सब्जेक्ट पर रहता है कि मुझे कहां नया और अलग रोल मिल रहा है

0
17


भोपाल4 घंटे पहलेलेखक: रौनक केसवानी

  • कॉपी लिंक

फिल्म थलाइवी से अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाने वाले एक्टर राज अर्जुन ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत की है। उन्होंने अपने करियर में 10 साल तक संघर्ष किया, इस बातचीत में उन्होंने अपने संघर्ष, अपनी पसंद के बारे में बात की

लगभग 10 साल के स्ट्रगल के बाद आज आप एक बॉलीवुड सेलिब्रिटी हैं। कैसा लगता है आज आपको जब आप खुद के बारे में सोचते हैं?
कुछ भी नहीं लगता है और सच बताऊं तो इसलिए नहीं लगता है क्योंकि मुझे हमेशा से एक्टर ही बनना था। मुझे मालूम था कि यही मेरी जगह है और 10 साल नहीं, लगभग 20 साल के बाद जब मैं देखता हूं कि मैं अपने मन का काम कर पा रहा हूं, तो एक सुकून मिलता है कि जीवन सार्थकता की दिशा में जा रहा है। शायद जो मेरी इच्छा थी कि मुझे अभिनेता ही बनना है और इस जीवन में मैं अपने मन का काम कर पा रहा हूं। बाकी स्टार वाली कोई फीलिंग नहीं क्योंकि मैं एक्टर हूं और अभी तक इसी के मजे ले रहा हूं कि मैं अपने मन का काम कर पा रहा हूं और इससे ज्यादा कोई बदलाव मैंने अपने आप में पाया नहीं है। हां, यह जरूर है कि उसमें अब एक सेटिस्फेक्शन आ गया है, एक ठहराव और सिक्योरिटी और सुकून है।

थलाइवी में कंगना के साथ आपने काम किया, वो डॉमिनेटिंग थीं या नहीं, और को-स्टार के रूप में कंगना के साथ काम करके कैसा लगा?
नहीं, डॉमिनेटिंग बिल्कुल नहीं थी और एक एक्टर को दूसरे के प्रति डॉमिनेटिंग होना भी नहीं चाहिए। अगर वह डॉमिनेटिंग होगा तो किसी ना किसी तरह से वह खुद का भी नुकसान करता है और सामने वाले का भी नुकसान करता है। एक परिवार में रहते हुए उस परिवार के प्यार को तोड़ता है डॉमिनेशन। हम सब लोग एक परिवार हैं, फिल्म इंडस्ट्री एक परिवार की तरह काम करती है और अगर हम किसी और को डॉमिनेट करें तो हम अपने प्रोफेशन के साथ जस्टिस नहीं करेंगे। यहाँ पर हम अपने पर्सनल ईगो, दुश्मनी, नेगेटिविटी या दूसरी बुरी चीजें लेकर नहीं आते हैं। कंगना का ऐसा व्यवहार नहीं था। वह पूरी तरह से अपने काम में इन्वॉल्व थी एक प्रोफेशनल एक्टर की तरह। पर्सनल जिंदगी में वह कहां क्या करती है, न उसका मुझसे कोई मतलब होना चाहिए न मैं क्या करता हूं इसका उससे कोई मतलब होना चाहिए।

तमिल, तेलुगु और बॉलीवुड, आपने तीनों जगह काम किया, कहा ज्यादा मजा आया? और किस भाषा में काम करना पसंद करेंगे?
मजा तो सभी जगह आ रहा है बस यह है कि तमिल तेलुगु और मलयालम में मेरी मेहनत 10 गुना बढ़ जाती है। मुझे डायलॉग याद करके जाना पड़ता है। मैं याद करता हूं, फिर उसको समझता हूं, तो वह बहुत ज्यादा एफर्ट्स लेता है और मेरी जान निकल जाती है। इसमें एक डर भी बना रहता है क्योंकि डायलॉग शब्द से शब्द जुड़ा हुआ है और एक शब्द मिस हुआ तो अगली लिंक भूल जाता हूं। तो, यह काफी मुश्किल होता है क्योंकि इमोशंस को भी मेंटेन करना है, लाइन को भी पकड़ना है और साथ में बाकी चीजों को भी देखते हुए चलना है। तो यूं तो हिंदी में काफी कंफर्टेबल हूं और अगर मेरे मन का काम मिलता रहा तो करता रहूंगा और अगर नहीं मिलेगा तो तमिल, तेलुगू, मलयालम वैसे भी कर ही रहा हूं।

आपका किया हुआ ऐसा रोल जो दिल के बेहद करीब हो?
मेरे सारे ही रोल जो मैंने सीक्रेट सुपरस्टार के बाद किए वो मेरे दिल के बेहद करीब हैं। सीक्रेट सुपरस्टार का फारूख मेरे लिए उस वक्त जिंदगी का सबसे करीबी रहा क्योंकि उसने मुझे एक नए मुकाम पर पहुंचाया। मेरे अंदर जो काम ना होने की इनसिक्योरिटी थी उस रोल ने उन सब को बाहर निकाल दिया। एक एक्टर को क्राफ्ट से भरा हुआ रोल चाहिए होता है जिसमें वो साबित कर सके की लो भाई देखो, मुझे काम आता है, मुझे क्राफ्टिंग आती है। मैं अच्छा कर सकता हूं। तो फारुख का रोल सीक्रेट सुपरस्टार में ऐसा था जिसने मुझे सब कुछ दिया और इसलिए वह मेरे दिल के करीब हमेशा से रहा है।

आपके अपकमिंग प्रोजेक्ट्स?
हाल ही में एक फिल्म की है जिसका नाम है ‘लव हॉस्टल’, यह शंकर रमन ने डायरेक्ट की है इसमें मेरा बहुत अलग काम है और मेरे साथ सान्या मल्होत्रा, विक्रांत मेसी, बॉबी देओल भी दिखेंगे। इसके अलावा मैं एक तेलुगू वेब सीरीज भी कर रहा हूँ जिसका नाम है ‘झांसी’ और यह हॉटस्टार पर आएगी। जनवरी में फरहान के एक्सेल एंटरटेनमेंट की एक फिल्म शूट करना शुरू करूंगा जिसका नाम है ‘युद्ध राह’ और इसके डायरेक्टर हैं रवि उद्यावर। इसके अलावा इम्तियाज अली के साथ एक वेब सीरीज सोनी लिव पर आएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here