भास्कर इंटरव्यू: शूजित सरकार बहुत ही कमाल फिल्म बनाते हैं मैं उनकी हर फिल्म का हिस्सा बनना चाहती हूं: बनिता संधु

0
18


भाेपाल32 मिनट पहलेलेखक: आकाश खरे

  • कॉपी लिंक

ब्रिटिश एक्ट्रेस बनिता संधु ने 2018 में वरुण धवन के अपोजिट फिल्म ‘अक्टूबर’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था। हाल ही में उनकी दूसरी हिंदी फिल्म “सरदार उधम’ रिलीज हुई है। फिल्म की सक्सेस को लेकर बनिता से हुई बातचीत…।

सवाल- आपने क्या देखकर “सरदार उधम’ को साइन किया?
बनिता- फिल्म में भले ही फिल्म में मेरा कैमियो रोल है पर मुझे ऐसे छोटे रोल करना पसंद है जिनका कोई अर्थ हो न कि ऐसे बड़े किरदार जिनका कोई मतलब न हो। जब मैं कोई भी प्रोजेक्ट चूज करती हूं तो बस इतना देखती हूं कि डायरेक्टर कौन है, लेखक कौन है और डीओपी कौन है? और जब बात शूजित सर की आती है तो मैं जानती हूं कि वो बहुत ही कमाल फिल्म बनाते हैं और मैं उनकी हर फिल्म में काम करना चाहती हूं। इसके अलावा मुझे इसमें पंजाबी लड़की का रोल करने का मौका मिला। मैं खुद पंजाबी सिख हूं। यह कहानी मेरी दादा-दादी के भी बहुत करीब है क्योंकि वो भी पंजाबी थे। कुल मिलाकर यह उस तरह की फिल्म जो खुद अपने किरदार चुनती है और इस तरह की फिल्म को आप इंकार नहीं कर सकते।

सवाल- आपने अपने किरदार के लिए किस तरह तैयारी की थी?
बनिता- मैं फिल्म की शूटिंग शुरू करने से मात्र एक हफ्ते पहले ही पहली बार अमृतसर आई थी। यह मेरे लिए बहुत ही मैजिकल मोमेंट था। यही वो जगह थी जहां मेरे दादा-दादी और मेरे पूर्वज रहे थे तो वहां जाना मेरे लिए बहुत स्पेशल था। बाकी फिल्म में मेरा जो किरदार है वो गूंगी और बहरी लड़की है तो अपने किरदार की तैयारी के लिए मैंने नीलम नाम की एक टीचर से मदद ली। वो ऐसे स्पेशल बच्चों के ही स्कूल की टीचर हैं तो मैं हर रोज उस स्कूल में जाकर वक्त बिताती थी। उनके साथ मस्ती करती थी उनसे ढेर सारी बातें करती थी। उनके बात करने का तरीका सीखती थी। ये हर तरह से मेरे लिए एक बहुत ही खास एक्सपीरियंस था।

सवाल- विकी और शूजित के साथ काम करने का एक्सपीरियंस कैसा रहा?
बनिता- काश मैं आपको कोई ऐसा किस्सा बता पाती जो मजेदार होता पर यह काफी इंटेस फिल्म थी तो हम सभी ने इसमें काफी सीरियसनेस के साथ काम किया। हालांकि, इतना जरूर कहूंगी कि इन लोगों के साथ काम करना एकदम फैमिली के साथ रहने जैसा था।

सवाल- सरदार उधम की सक्सेस का सबसे बड़ा रीजन किसे मानती हैं?
बनिता- एक फिल्म के सफल होने में एक पूरी टीम का हाथ हाेता है। हां मैं ये मानती हूं कि शूजित कमाल के फिल्ममेकर हैं। आप उनको कुछ भी दे दो वो आपको एक मास्टर पीस ही बनाकर देंगे। तो इसकी सफलता का सबसे बड़ा क्रेडिट तो शूजित को ही जाता है। बाकी तो पूरी टीम ने अपना काम बखूबी निभाया है और जब सभी लोग अपना काम बेस्ट कर रहे हों तो एक बेहतर फिल्म ही बनती है।

सवाल- शूजित के साथ कई बार काम कर चुकी हैं। अब किसके साथ काम करना चाहेंगी?
बनिता- वैसे तो मेरे लिए शूजित ही बेस्ट हैं और मुझे लगता है कि वो सिर्फ इंडिया के ही नहीं बल्कि इस दुनिया के बेस्ट डायरेक्टर हैं। मैं आगे भी उनके साथ ही काम करना चाहती हूं और वो जो भी कहें वो करने के लिए मैं तैयार हूं पर साथ ही अगर मौका मिला तो एक बार जोया अख्तर के साथ जरूर काम करना चाहूंगी।

सवाल- आपने 11 साल की उम्र से एक्टिंग करना शुरू कर दिया था। अपने अब तक के कॅरियर को किस तरह से देखती हैं?
बनिता- मैं ये तो नहीं जानती कि मेरा कॅरिअर अब तक कैसा रहा पर हर दिन के अंत में बस इतनी कोशिश करती हूं कि कुछ अच्छा काम करूं या किसी अच्छे काम का हिस्सा बनूं। मेरे लिए खुद को एनालाइज करना काफी मुश्किल होगा पर मेरी कोशिश है हर दिन कुछ बेहतर करने की।

सवाल- आगे किस तरह की फिल्में करना चाहती हैं?
बनिता- इस वक्त जो इंडियन टीवी सीरीज बन रही हैं उनका हिस्सा बनना चाहती हूं। ‘मेड इन हैवन’ और ‘देल्ही क्राइम’ जैसे शोज मुझे काफी पसंद आए।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here