माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की बड़ी लापरवाही: 32 हजार शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू, लेकिन 11 लाख पात्र अभ्यर्थियों को अब तक नहीं मिले प्रमाण-पत्र

0
20



  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Recruitment Process Of 32 Thousand Teachers Started, But Till Now 11 Lakh Eligible Candidates Have Not Received Certificates

जयपुर2 घंटे पहले

बोर्ड ने पात्र अभ्यर्थियों को पात्रता प्रमाण-पत्र जारी नहीं किए हैं। इस वजह से भर्ती प्रक्रिया में अभ्यर्थी शामिल नहीं हो सकेंगे।

राजस्थान में सरकारी स्कूलों में लेवल-1 और लेवल-2 के रिक्त पदों को भरने के लिए शिक्षा विभाग ने 32 हजार पदों की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। प्राथमिक और उच्च प्राथमिक के साथ ही विशेष शिक्षा के पदों पर आवेदन मांगे गए हैं, लेकिन अब तक राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा(रीट) की पात्रता प्राप्त करने वाले 11 लाख से अधिक अभ्यर्थियों को पात्रता प्रमाण-पत्र नहीं मिल पाए हैं। इस वजह से अभ्यर्थी भी असमंजस की स्थिति में हैं।

दरअसल, राजस्थान में 26 सितंबर को रीट का आयोजन किया गया था। इसके बाद आनन-फानन में बोर्ड ने 36 दिनों में रीट का रिजल्ट भी जारी कर दिया, जिसमें 11 लाख 4 हजार 216 अभ्यर्थी पात्र घोषित हुए थे। इसके बाद शिक्षा विभाग ने 32 हजार पदों पर भर्ती का ऐलान किया, जिसके लिए 10 जनवरी से आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू हो रही है। बोर्ड ने पात्र अभ्यर्थियों को पात्रता प्रमाण-पत्र जारी नहीं किए हैं। इस वजह से भर्ती प्रक्रिया में अभ्यर्थी शामिल नहीं हो सकेंगे।

प्रमाण-पत्रों की प्रिंटिंग चल रही- जारौली
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष प्रो.डीपी जारौली ने कहा है कि प्रमाण-पत्रों की प्रिंटिंग चल रही है। इस बार अभ्यर्थियों कि संख्या ज्यादा थी। ऐसे में इतनी अधिक संख्या में प्रमाण-पत्रों की प्रिंटिंग में समय लगता है। फिर भी एक सप्ताह में पात्रता प्रमाण-पत्र का वितरण शुरू कर दिया जाएगा।

एक से अधिक पद की योग्यता पर अलग-अलग आवेदन
बता दें की 32 हजार पदों पर भर्ती के लिए 10 जनवरी से 9 फरवरी तक आवेदन भरे जाएंगे, इसलिए अभ्यर्थियों को रीट के प्रमाण-पत्रों की जरूरत पड़ेगी। भर्ती प्रक्रिया के दौरान एक से अधिक पद की योग्यता या पात्रता होने पर अभ्यर्थी को अलग-अलग आवेदन करना होगा। वहीं ऑफलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। ऑनलाइन आवेदन के दौरान गैर अनुसूचित क्षेत्र के विज्ञप्ति पदों के लिए अनुसूचित क्षेत्र सहित पूरे राजस्थान और राजस्थान के बाहर के अभ्यर्थी भी आवेदन कर सकेंगे, जबकि अनुसूचित क्षेत्र के विज्ञप्ति पदों के लिए सिर्फ राजस्थान के अनुसूचित क्षेत्र के मूल अभ्यर्थी ही आवेदन कर पाएंगे।

जल्दी रिजल्ट जारी होने से भी अभ्यर्थी हुए थे परेशान
गाैरतलब है कि रिजल्ट जल्दी जारी होने से बीएड सेकंड ईयर की पढ़ाई कर रहे करीब एक लाख अभ्यर्थियों के सामने शिक्षक भर्ती से बाहर होने का खतरा पैदा हो गया था। भर्ती के लिए सरकार ने शर्त रखी थी कि उनके पास रीट के परिणाम की तारीख तक बीएड की डिग्री होनी चाहिए। हालांकि समय रहते सरकार ने यह मामला संभाल लिया था और उनको शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन की अंतिम तिथि तक बीएड की डिग्री प्राप्त करने की छूट प्रदान कर दी थी।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here