रोहित की कप्तानी में टीम से गायब हुआ ये घातक प्लेयर, अकेले पलट देता था हारी हुई बाजी

0
43


नई दिल्ली: टीम इंडिया में इस वक्त बदलावों का दौर चल रहा है. विराट कोहली की जगह हाल ही में रोहित शर्मा को टीम इंडिया का नया कप्तान बनाया गया है. रोहित की कप्तानी में टीम से कई दिग्गज खिलाड़ियों का पत्ता काटा गया है. वहीं एक बल्लेबाज तो ऐसा है जो एक समय सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी माना जाता था. लेकिन अब वो टीम से एकदम गायब ही हो चुका है. रोहित की कप्तानी में इस खिलाड़ी को मौका मिलना काफी मुश्किल है. 

कहां गायब हुआ अचानक ये खिलाड़ी?

रोहित की कप्तानी में टीम इंडिया के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज की भी बली चढ गई है. ये बल्लेबाज टीम की सबसे बड़ी ताकत हुआ करता था. लेकिन अब टीम से रोहित ने इस खिलाड़ी की छुट्टी कर दी है. ये खिलाड़ी और कोई नहीं बल्कि टीम इंडिया के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा हैं. पुजारा को टेस्ट टीम की जान माना जाता था, लेकिन अब ऐसा लगता है कि इस खिलाड़ी की टीम में वापसी भी नामुंकिन है. रोहित ने पुजारा की जगह हनुमा विहारी को तीन नंबर के लिए एकदम पक्का कर लिया है. इतना ही नहीं विहारी ने अभी तक इस नंबर पर ठीक-ठाक प्रदर्शन भी करके दिखाया है. 

आईपीएल से भी कटा पत्ता

टीम इंडिया (Team India) की टेस्ट टीम की दीवार कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा को कोई भी खरीददार नहीं मिला. चेतेश्वर पुजारा ने आईपीएल (IPL) में ज्यादा मुकाबले नहीं खेले हैं. साल की 2021 की नीलामी में चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) ने उन्हें बेस प्राइज में खरीदा, लेकिन वो पूरे सीजन में बेंच पर ही बैठे रहे, लेकिन उन्हें बेंच पर ही बैठे-बैठे चैंपियन बनने की खुशी मिली थी. तब सीएसके ने केकेआर को हराकर खिताब जीता था. 

बहुत कम आईपीएल खेले हैं पुजारा 

चेतेश्वर पुजारा ने आईपीएल (IPL) में बहुत ही कम मैच खेले हैं. पुजारा ने साल 2010 में कोलकाता नाइटराइडर्स की तरफ से आईपीएल में डेब्यू किया था. 2011 से 2013 तक वो आरसीबी का हिस्सा रहे. वह अपने बल्ले का कमाल कभी भी टी20 में नहीं दिखा पाए. इसी वजह से उनको खरीदने में किसी भी टीम ने दिलचस्पी नहीं दिखाई है. पुजारा ने आईपीएल के 30 मैचों में 390 रन बनाए हैं. 2014 में उन्होंने अपना आखिरी मैच पंजाब किंग्स की तरफ से खेला था. उसके बाद उन्हें एक भी मैच खेलने का नसीब नहीं हुआ है. 

धीमी बल्लेबाजी के लिए होती रही आलोचना 

चेतेश्वर पुजारा की धीमी बल्लेबाजी को लेकर हमेशा ही आलोचना होती रही है. जारा टेस्ट फॉर्मेट के स्पेशलिस्ट बल्लेबाज माने जाते हैं और कई सालों से वो सिर्फ लंबे फॉर्मेट में ही खेलते नजर आ रहे हैं. इतना ही नहीं कुछ वक्त से वो टेस्ट फॉर्मेट में भी काफी संघर्ष रहे हैं. पुजारा का आईपीएल रिकॉर्ड बेहद खराब रहा है. यही वजह है कि कोई भी IPL टीम उनमें दिलचस्पी नहीं दिखाती. 

टीम इंडिया की टेस्ट टीम के अहम सदस्य 

चेतेश्वर पुजारा को भारतीय टेस्ट टीम की दीवार कहा जाता है, क्योंकि वह दिग्गज राहुल द्रविड़ की तरह ही पिच पर जमजाते हैं. उन्हें आउट करना किसी भी बल्लेबाज के लिए बस की बात नहीं है, लेकिन पिछले कुछ सालों में उनका बल्ला खामोश ही रहा है और घरेलू क्रिकेट में कई शानदार बल्लेबाज उनकी जगह लेने के लिए तैयार दिखाई देते हैं. उनकी धीमी गति से बल्लेबाजी करने को लेकर भी आलोचना होती रही है.





Source link