सर्दियों में क्यों खाई जाती है शकरकंद? जानिए इसके लाजवाब फायदे

0
31


Sweet Potato Benefits: सर्दियों में सेहत का खास ख्याल रखना पड़ता है. क्योंकि ऐसे मौसम में बॉडी को ज्यादा एनर्जी की जरूरत होती है. इसके लिए बाजार में एक आपको एक गुलाबी रंग की चीज दिखाई देगी, जिसे शकरकंद कहते हैं. शकरकंद को स्वीट पोटैटो के नाम से भी जाना जाता है. ये खाने में बेहद स्वादिष्ट होती है. साथ ही शकरकंद आपके स्वास्थ के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है. सर्दियों में शकरकंद खाने के कई फायदे होते हैं. इसलिए आपको इसका सेवन जरुर करना चाहिए. शकरकंद को कुछ लोग आलू से जोड़कर भी देखते हैं. शकरकंद कई रंगों में आती है, जैसे सफेद, बैंगनी, गुलाबी और नारंगी आदि. बता दें सभी तरह के शकरकंद मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं. आइये जानते हैं कि सर्दियों में आखिर क्यों खाई जाती है शकरकंद और इसके क्या फायदे होते हैं…
 
शकरकंद खाने के फायदे-

1. ठंड में शकरकंद खूब मिलती है और लोग इसे जमकर खाते भी हैं. वैसे तो ये स्वाद में इतनी बेहतरीन होती है, कि हर कोई इसे खाना पसंद करता है, लेकिन आपको बता दें कि इसे खाने से आपके आंखों की रोशनी अच्छी होती है. अगर आप अपनी आंखों को लंबी उम्र तक स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो आपको सर्दियों भर डाइट में शकरकंद को शामिल करना चाहिए.

2. पोषक तत्वों से भरपूर शकरकंद में शरीर को ऊर्जा देने की क्षमता होती है. जिसे खाने से दिल की बीमारियां दूर होती हैं, क्योंकि इसमें अच्छी मात्रा में फाइबर मौजूद होता है, जो आपके शरीर से खराब कोलेस्टॉल को कम करता है. शकरकंद में पोटैशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है. इसलिए इसके सेवन से आपको हाई ब्लड प्रेशर से भी राहत मिलती है. 

3. शकरकंद में आयरन की पर्याप्त मात्रा होती है. आयरन की कमी से हमारे शरीर में एनर्जी नहीं रहती, रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है और ब्लड सेल्स का निर्माण भी ठीक से नहीं होता. शकरकंद आयरन की कमी को दूर करने में मददगार होता है.

4. शकरकंद में फाइबर भी अच्छी मात्रा में होता है. इसलिए इसे खाने से आपका पाचन तंत्र मजबूत रहता है. इसके साथ ही ये आपको कब्ज से राहत दिलाने में फायदेमंद साबित होता है. ऐसे में अगर आपको पेट की किसी तरह की परेशान है तो आप इसका सेवन कर सकते हैं.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है. 





Source link