सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस: एक्टर के दोस्त गणेश हिवारकर की चेतावनी, 14 जून तक RTI का जवाब नहीं मिला तो CBI दफ्तर के सामने करेंगे आंदोलन

0
66


  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Sushant Singh Rajput Friends Warns CBI, Says If The RTI Reply Is Not Received By June 14, Then We Will Agitate In Front Of The CBI Office

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

42 मिनट पहलेलेखक: अमित कर्ण

  • कॉपी लिंक

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को एक साल पूरा होने जा रहा है। लेकिन मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच एजेंसी CBI अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है कि अभिनेता ने खुदकुशी की थी या फिर उनकी हत्या की की गई थी। सुशांत के दोस्त और कोरियोग्राफर गणेश हिवारकर ने मामले का अपडेट जानने के लिए कुछ दिन पहले RTI लगाई थी, जिस पर भी CBI ने कोई जवाब नहीं दिया है। अब गणेश ने एजेंसी को चेतावनी दी है कि यदि सुशांत की पहली पुण्यतिथि यानी 14 जून तक उन्हें उनकी RTI का जवाब नहीं मिलता है तो वे CBI दफ्तर के सामने आंदोलन करेंगे।

सिद्धार्थ पिठानी पर एक्शन ले CBI: गणेश
दैनिक भास्कर से बातचीत में गणेश ने कहा, “NCB (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) तो खुलेआम काम करती है। उन्‍होंने सिद्धार्थ पिठानी (सुशांत के दोस्त और रूम पार्टनर) को अरेस्‍ट किया है। लेकिन NCB सिर्फ ड्रग्‍स के एंगल के तहत ही उनका गुनाह जाहिर कर सकती है। अब जिम्‍मेदारी CBI की बनती है कि वह भी पिठानी पर कोई एक्‍शन ले। वह जवाब दे कि वह किस-किसको सस्‍पेक्‍ट मान रही है? आरोपियों के खिलाफ कब चार्जशीट फाइल करेगी? वह इसे मर्डर मान रही है या अबेटमेंट टू सुसाइड? वह अब तक किसी पर एक्‍शन क्‍यों नहीं ले सकी है, इसका कारण भी उजागर करे।”

गणेश ने आगे कहा, “मैंने सवालों के जवाब जानने के लिए 15 मई को RTI फाइल की थी। लेकिन 13 दिन बाद भी CBI की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। प्रावधान है कि अभी 10 से 12 दिन और सीबीआई इस मसले पर वक्‍त ले सकती है। फिर भी 14 जून तक अगर मुझे जवाब नहीं मिला तो मैं और सुशांत के बाकी चाहने वाले CBI के दिल्‍ली मुख्‍यालय पर आंदोलन करेंगे।”

27 मई को NCB की गिरफ्त में आए पिठानी
सिद्धार्थ पिठानी को NCB ने 27 मई को हैदराबाद से गिरफ्तार किया गया और 28 मई को मुंबई लाकर कोर्ट में उनकी पेशी कराई गई, जहां से उन्हें 1 जून तक के लिए NCB की कस्टडी में भेज दिया गया है। सिद्धार्थ पर आरोप है सुशांत की मौत से जुड़े ड्रग्स केस में NCB के 3 बार समन के बावजूद सिद्धार्थ पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हुए। इसके बाद उन्हें फरार घोषित कर दिया गया था। (पढ़ें पूरी खबर)

14 जून 2020 को हुई सुशांत की मौत
14 जून 2020 को सुशांत सिंह राजपूत अपने घर में मृत मिले थे। मुंबई पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला बताया था। हालांकि, करीब डेढ़ महीने बाद उनके पिता केके सिंह ने पटना में रिया चक्रवर्ती के और उनके परिवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। सिंह ने रिया पर सुशांत को खुदकुशी के लिए उकसाने और उनके बैंक खाते से 15 करोड़ रुपए की हेराफेरी का केस दर्ज कराया था, जो बाद में CBI को सौंप दिया गया। CBI का सहयोग कर रहा एम्स मामले में हत्या की आशंका से इनकार कर चुका है और रिपोर्ट एजेंसी को सौंप चुका है। हालांकि, अभी CBI की जांच जारी है।

खबरें और भी हैं…



Source link