सेकंड हैंड Swift खरीदने से पहले ध्यान रखें ये 5 बातें, कम बजट में मिल जाएगी अच्छी कार

0
19


हाइलाइट्स

अब नई मारुति सुजुकी स्विफ्ट में सिर्फ पेट्रोल इंजन मिलता है.
तीसरी जनरेशन की स्विफ्ट में अच्छे फीचर्स हैं, जो पहले नहीं थे.
स्विफ्ट के तीसरी पीढ़ी के मॉडल को 2-स्टार सेफ्टी रेटिंग मिली है.

नई दिल्ली. मारुति सुजुकी स्विफ्ट यकीनन भारत में बिकने वाली सबसे लोकप्रिय हैचबैक में से एक है. पहली बार इसे 2005 में लॉन्च किया गया था. भारत में इस कॉम्पैक्ट हैचबैक की तीन जनरेशन को लॉन्च किया जा चुका है. 2018 में लॉन्च किए गए तीसरे-जनरेशन मॉडल को एक नए रूप में उतारा गया था. वर्तमान में Swift की कीमत लगभग 6.57 लाख रुपये एक्स शोरूम से लेकर 9.88 लाख रुपये एक्स शोरूम है.

अगर आपके पास कम बजट है, तो आप एक सेकंड हैंड मॉडल खरीदने पर विचार कर सकते हैं. मौजूदा जनरेशन वाली Swift को बाजार में आए हुए 4 साल हो गए हैं और आपको यूज्ड कार बाजार में अच्छी संख्या में मॉडल्स देखने को भी मिल जाते हैं. हालांकि, इससे पहले कि आप एक सेकंड हैंड कार खरीदें, उससे पहले ये 5 बातें जान लीजिए, जो इसे खरीदने से पहले ध्यान में रखना चाहिए.

ये भी पढ़ें- इस सस्ती SUV ने भारत में बनाया रिकॉर्ड, खरीदने के लिए लाइन में लगे 1 लाख से ज्यादा ग्राहक!

1. कार के पिछले मॉडलों की तुलना में तीसरे जनरेशन की मारुति सुजुकी स्विफ्ट की बिल्ड क्वालिटी काफी बेहतर है. इसके अलावा, इसे कंपनी के हार्टेक्ट प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है, जो ज्यादा रिगिड है और कार में ज्यादा सुरक्षा मिल जाती है.

2. अब स्विफ्ट में सिर्फ पेट्रोल इंजन मिलता है, लेकिन अप्रैल 2020 से पहले इसे 1.3-लीटर डीजल इंजन के साथ भी बेचा जाता था. इंजन में 74 बीएचपी की पावर और 190 एनएम पीक टॉर्क देखने को मिल जाता था. अगर आप एक पेट्रोल कार की तलाश कर रहे हैं, तो स्विफ्ट की 1.2-लीटर मोटर भी काफी अच्छी है. इंजन काफी फास्ट है और 82 बीएचपी की पावर और 115 एनएम का पीक टॉर्क बनाता है.

ये भी पढ़ें-  नए अंदाज और धांसू लुक के साथ आ रही स्विफ्ट 2023, जानें क्या होंगे बदलाव

3. तीसरी जनरेशन की स्विफ्ट में अच्छे फीचर्स हैं, जो पिछली पीढ़ी के मॉडल में नहीं थे. इसमें प्रोजेक्टर हेडलैम्प्स, LED DRLs, स्पोर्टी एलॉय, Apple CarPlay और Android Auto के साथ टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, ऑटो क्लाइमेट कंट्रोल और बहुत कुछ मिल जाता है. हालांकि, इनमें से ज्यादातर हाई-स्पेक वेरिएंट तक ही सीमित हैं.

4. मारुति सुजुकी स्विफ्ट को ग्लोबल एनसीएपी से कभी भी संतोषजनक सुरक्षा रेटिंग नहीं मिली है. वास्तव में, पिछली पीढ़ी की कार को शून्य-स्टार सुरक्षा रेटिंग प्राप्त हुई थी, हालांकि, तीसरी पीढ़ी के मॉडल को 2-स्टार सेफ्टी रेटिंग मिली है.

5. तीसरी पीढ़ी की स्विफ्ट अभी भी नई कार है, इसलिए पुरानी कार भी थोड़ी सस्ती होगी. मॉडल के साल और वैरिएंट के आधार पर आप एक इस्तेमाल की हुई स्विफ्ट को लगभग 5.5 लाख रु से लेकर 7.5 लाख रु. में खरीद सकते हैं. हालांकि, मारुति सुजुकी कारों का मूल्य अच्छा रहता है और अगर आप 3-4 साल बाद अपनी कार बेचने का फैसला करते हैं, तो आपको अच्छा रिटर्न मिलना तय है.

Tags: Auto News, Automobile, Car Bike News, Maruti Suzuki



Source link