16 साल बाद सीक्वल का रिस्क: ‘कजरारे’ जैसे गाने और बच्चन मैजिक की गैरमौजूदगी में बंटी और बबली-2 के सामने बड़ी कामयाबी की चुनौती

0
15


मुंबई2 घंटे पहलेलेखक: हिरेन अंतानी

  • कॉपी लिंक
  • 2005 में बंटी और बबली ने बजट से पांच गुना कमाई की थी
  • पहले दिन 6 से 8 करोड़ की कमाई और लाइफ टाइम 40 से 50 करोड़ के बिजनेस की संभावना

बॉलीवुड के टॉप प्रोडक्शन हाउस यशराज फिल्म्स की बंटी और बबली-2 आज रिलीज हो रही है। वैसे तो इस बैनर की फिल्मों का लोगों को इंतजार रहता है, लेकिन इस सीक्वल के लिए बड़ी कामयाबी हासिल करना चुनौतीपूर्ण माना जा रहा है। फिलहाल मीडियम बजट फिल्मों को अभी थिएटर में ज्यादा दर्शक मिलने पर संदेह है। ‘कजरारे’ जैसे सुपरहिट गाने, बच्चन मैजिक की गैरमौजूदगी और एक सप्ताह के बाद ही दो एक्शन फिल्मों से मुकाबला, इस फिल्म के बिजनेस को एक लेवल से आगे बढ़ने देगा, ऐसा मुश्किल लग रहा है।

यशराज को ज्यादा उम्मीद ‘पृथ्वीराज’ और ‘शमशेरा’ से
यशराज की चार फिल्में रिलीज के लिए लाइन में हैं। इनमें से ‘बंटी और बबली-2’ और ‘जयेशभाई जोरदार’ का बजट 50-50 करोड़ का है, लेकिन अगले साल जनवरी में आ रही ‘पृथ्वीराज’ का बजट 140 करोड़ और इसके बाद मार्च में आ रही ‘शमशेरा’ का बजट 220 करोड़ बताया जा रहा है।

कैनवास के हिसाब से भी यह दोनों बड़ी फिल्में हैं। जाहिर है कि ‘बंटी और बबली-2’ में कोई खास बड़ी कमाई का स्कोप नहीं है। 2005 में आई ‘बंटी और बबली’ 12 करोड़ की लागत में बनी थी, लेकिन 60 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर गई थी।

40-50 करोड़ के बिजनेस का अनुमान
इलारा कैपिटल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और रिसर्च एनालिस्ट करन तौरानी ने बताया कि दो हजार से ज्यादा स्क्रीन पर रिलीज हो रही ‘बंटी और बबली-2’ का पहले दिन का बिजनेस 6 से 8 करोड़ की रेंज में रहने का अनुमान है। इस फिल्म की लाइफ टाइम कमाई 40 करोड़ से ज्यादा हो सकती है।
इतने कम नंबर्स की वजह बताते हुए करन ने कहा कि बड़ी फिल्मों के मुकाबले छोटे बजट की फिल्मों के लिए बहुत ज्यादा फुटफॉल की उम्मीद नहीं की जा रही। बड़ी फिल्मों के लिए लोग थिएटर में वापस आ रहे हैं, लेकिन मीडियम बजट फिल्मों के लिए कोविड से पहले वाला माहौल बनने में अभी देर है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here