Dengue Symptoms: तेजी से बढ़ रहे डेंगू के मामले, जानिए लक्षण और घरेलू उपचार

0
9


Dengue Symptoms: बरसात के इस मौसम में दिल्ली समेत देशभर के कई राज्यों में डेंगू (dengue) के मामले तेजी से बढ़े हैं. बीतें 15 दिनें में दिल्ली-एनसीआर में डेंगू के मामलों (dengue case) में भारी उछाल देखा गया है. पिछले एक हफ्ते में दिल्ली में 100 से अधिक मामले सामने आए हैं. इसके अलावा, यूपी और बिहार में भी डेंगू के डंक (dengue fever) ने कहर बरपा रखा है. सैकड़ों लोग इसकी चपेट में हैं. आइए जानें कैसे डेंगू फैलता है और इसके लक्षण व घरेलू उपचार (dengue home remedies) क्या है.

कैसे फैलता है डेंगू?
बारिश के बाद अक्सर कई जगहों पर जलभराव हो जाता है, जो मच्छरों का घर बन जाता है. मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से डेंगू होता है. ये मच्छर इंसान को दिन के समय काटते हैं.

डेंगू के लक्षण
डेंगू के लक्षण मच्छर के काटने के 3-4 बाद दिखने लगते हैं, जिसमें सिर दर्द, मांसपेशियों में दर्द, जी मिचलाना, हड्डियों में दर्द, उल्टी, जोड़ों में दर्द, आंखों के पीछे दर्द, ग्रंथियों में सूजन और स्किन पर लाल चकत्ते पड़ना शामिल हैं. इसके साथ ही आपको ठंड के साथ तेज बुखार आएगा. इन सबके अलावा, आपके शरीर में मौजूद प्लेटलेट्स (Platelets) काउंट तेजी से कम होने लगेंगे.

डेंगू के घरेलू उपचार
– नीम के पत्तों का रस पीएं. इससे प्लेटलेट्स और वाइट ब्लड सेल्स की संख्या में वृद्धि होती है.
– गिलोय को उबालकर काढ़ा बना लें और पीएं. यह इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और डेंगू वायरस से लड़ता है.
– तुलसी की पत्तियां शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालती हैं.
– पपीते का सेवन करें. इसमें मौजूद पोषक तत्व प्लेटलेट्स काउंट्स बढ़ते हैं.
– मेथी के पत्ते बुखार कम करते हैं और शरीर में हो रहे दर्द को आराम देते हैं.
– संतरे के जूस में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो डेंगू वायरस को नष्ट करने के लिए जाने जाते हैं.
– डेंगू के मरीजों को नारियल पानी पिलाएं. इसमें मौजूद मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट्स जैसे पोषक तत्व शरीर को मजबूत बनाते हैं.
– पके कद्दू को पीस कर उसमें 1 चम्मच शहद डालकर पीएं.
– 2 से 3 चम्मच एलोवेरा जूस को पानी में मिलाकर पिएं.

डेंगू से बचने के उपाय
आप अपने आसपास जलभराव न होने दें. अगर आसपास पानी जमा हो तो उसमें मिट्टी भर दें. ऐसा करना संभव नहीं है, तो उसमें मिट्टी के तेल की बूंदे डाल दें. बरसात के मौसम में खुला पानी ना पिएं. पानी को हमेशा ढक कर ही रखें. रात को सोते वक्त रोजाना मच्छरदानी का इस्तेमाल करें या फिर मॉस्किटो रिफिल लगाएं.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link