#DeshKaZee: ‘ZEEL रहा एंटरटेनमेंट जगत का सिरमौर, उसको हथियाने की साजिशें होंगी नाकाम’

0
47


नई दिल्ली: ZEEL-Sony डील के खिलाफ चीन की बड़ी साजिश पर देश की बड़ी शख्सियतों ने ट्वीट कर ZEE ग्रुप को अपना समर्थन दिया है. बॉलीवुड की चर्चित सेलेब्रिटीज ने कहा है कि भारतीय मनोरंजन उद्योग को कब्जाने के लिए चीनी-अमेरिकी इन्वेस्टर की यह बड़ी साजिश है. इसे कामयाब नहीं होने दिया जाना चाहिए. 

‘क्या चीनी किसी भारतीय कंपनी को हिला सकते हैं’

ZEE ग्रुप के समर्थन में #DeshKaZee हैशटैग के साथ ट्वीट करते हुए बॉलीवुड के शोमैन कहे जाने वाले सुभाष घई ने अपनी राय दी है. सुभाष घई ने कहा, ‘मुझे हैरानी है कि क्या चीन के छोटे निवेशक किसी भारतीय कंपनी को हिला सकते हैं. सुभाष चंद्रा जैसे दिग्गज भारतीय प्रमोटर ने ZEECorporate को आगे बढ़ाया है. पिछले 30 सालों में उन्हें नैतिकता और मानवीय मूल्यों का ध्यान रखते हुए प्योर इंडियन कंटेंट को मीडिया वर्ल्ड में आगे बढ़ाया है. मौजूदा हालात भविष्य की कॉर्पोरेट संस्कृति को गलत संकेत दे रहा है?’

बॉलीवुड के मशहूर निर्देशक और एक्टर सतीश कौशिक ने ट्वीट करके कहा, ‘Zee पहला भारतीय चैनल है. इस चैनल ने भारतीय मनोरंजन उद्योग को आगे बढ़ाने में जबरदस्त योगदान दिया है. आज अमेरिकी और चीनी निवेशक इसे हथियाने की कोशिश कर रहे हैं. आशा है कि Zee आगे भी इसे बढ़ाने वाले वास्‍तविक हाथों में बना रहेगा.’

‘भारत का पहला मनोरंजन चैनल ZEE TV’

बॉलीवुड के प्रसिद्ध डायरेक्टर मधुर भंडारकर ने भी इस मुद्दे पर ज़ी ग्रुप को अपना समर्थन दिया. भंडारकर ने ट्वीट करके कहा, ‘ZEE TV, पहला भारतीय मनोरंजन चैनल रहा है, जिसकी स्थापना सुभाष चंद्रा ने की. भारत की सबसे बड़ी इस एंटरटेनमेंट कंपनी ने इंडियन कंटेंट को आगे बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभाई है. मेरी कामना है कि यह कंपनी इसी तरह पुनीत गोयनका और दूसरे भारतीय प्रबंधकों के नेतृत्व में आगे बढ़ती रहे. मैं इस कंपनी के अच्छे भविष्य की कामना करता हूं.’

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर डायरेक्टर बोनी कपूर ने ट्वीट करके कहा, ‘Zee भारत का पहला ऐसा चैनल रहा है, जिसे देश के राष्ट्रवादी सुभाष चंद्रा ने शुरू किया. इस चैनल ने हमेशा भारतीय मनोरंजन उद्योग को आगे बढ़ाने का काम किया. अब इस चैनल पर अमेरिकन और चाइनीज इन्वेस्टर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं. हमें Zee Entertainment के लिए प्रार्थना करनी चाहिए, जिससे वह आगे भी काम के प्रति जुनूनी उद्यमी पुनीत गोयनका के नेतृत्व में आगे बढ़ता रहे.’ 

‘चीनी-अमेरिकी इन्वेस्टर्स की मंशा पर सवाल’

बॉलीवुड के चर्चित निर्देशक अशोक पंडित ने भी ज़ी ग्रुप के सपोर्ट में ट्वीट किया. अशोक पंडित ने कहा, ‘#ZeeTV भारतीय मनोरंजन उद्योग के प्रमुख स्तंभों में से एक है. सुभाष चंद्रा के विजन की वजह से इस इंडस्ट्री में हजारों रोजगार पैदा हुए, जो दशकों से लोगों का मनोरंजन कर रहे हैं. हमें चीनी और अमेरिकी इन्वेस्टर्स को इस कंपनी की ताकत को नष्ट करने की अनुमति नहीं देनी चाहिए.’ 

किसी कॉरपोरेट घराने के इशारे पर इन्वेस्को

उल्‍लेखनीय है कि ZEEL के बोर्ड में बदलाव की मांग पर इन्वेस्को अड़ा है. हालांकि, बोर्ड में अनुभवहीन सदस्यों को शामिल करने की कोशिश की जा रही है. अब ये किसके इशारे पर हो रहा है, इसको लेकर इन्वेस्को की तरफ से कोई ट्रांसपेरेंसी नहीं रखी गई है. पुनीत गोयनका को MD-CEO से हटाना चाहता है, लेकिन ये नहीं बताता कि मैनेजमेंट को किसके हाथ में देगा. इन्वेस्को की इस मंशा से साफ झलकता है कि वो किसी बड़े कॉरपोरेट घराने के इशारे पर ZEEL पर कब्ज़ा करना चाहता है.

ये भी पढ़ें- #DeshKaZee: ZEEL-Sony डील के खिलाफ चीन की बड़ी साजिश, कॉरपोरेट घराने के हाथ Invesco का रिमोट, समझें पूरी कहानी

‘इन्वेस्को के पास ठोस प्लान नहीं, निवेशकों को गुमराह करने की कोशिश’

ज़ी ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने इस स्थिति पर वीडियो जारी कर कहा “इन्वेस्को बड़े अच्छे इन्वेस्टर हैं. लेकिन, ZEEL के मामले में वो ट्रांसपेरेंटली ये नहीं बता रहे हैं, इसको लेकर वो करेंगे क्या. मैनेजमेंट किसके हाथ में देंगे. पुनीत गोयनका को हटाना चाहते हैं तो हटा दें लेकिन, मैनेजमेंट किसके हाथ में देंगे वो बताते क्यों नहीं. क्या इन्वेस्को ने किसी से डील कर रखी है. बोर्ड में 6 डायरेक्टर के नाम का प्रस्ताव दिया है उनका बैकग्राउंड क्या है? क्या उनका किसी X कंपनी के साथ संबंध है? कोई इसे लेना चाहते हैं क्या? इन्वेस्को को इस पर खुलकर सामने आना चाहिए. फिर शेयरधारकों को तय करने दें कि क्या वो इन्वेस्को के साथ जाना चाहेंगे या ZEEL-SONY डील के साथ.’

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here