Digital Rape: बुजुर्ग ने किया नाबालिग लड़की से ‘डिजिटल रेप’, जानें क्या है डिजिटल रेप

0
38


नोएडा: Digital Rape:नोएडा पुलिस ने रविवार को एक 80 वर्षीय व्यक्ति को 17 साल की एक लड़की के साथ सात साल की अवधि तक कथित तौर पर ‘डिजिटल दुष्कर्म’ किया. उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है.

क्या है पूरा मामला
‘डिजिटल दुष्कर्म’ में आरोपी व्यक्ति अपने हाथों, उंगलियों, पैर के अंगूठे या किसी अन्य वस्तु का उपयोग करता था. मौरिस राइडर के रूप में पहचाने जाने वाले व्यक्ति पर पीड़िता के साथ अश्लील हरकत करने का भी आरोप लगाया गया था.

पुलिस के मुताबिक आरोपी प्रोफेशन से कलाकार है. उसका हिमाचल में ऑफिस है. उसके एक कर्मचारी ने अपनी बेटी को आरोपी के साथ रहने के लिए भेजा ताकि वह पढ़ सके.  आरोप है कि पीड़िता जब 10 साल की थी तब से ही उत्पीड़न का यह सिलसिला शुरू हो गया था.

नाबालिग की शिकायत के आधार पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (दुष्कर्म), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 506 (आपराधिक धमकी) और पोक्सो अधिनियम की धारा 5 और 6 के तहत मामला दर्ज किया. पता चला है कि आरोपी बुरे काम का विरोध करने पर पीड़िता की पिटाई भी करता था. 

पीड़िता ने रिकॉर्ड किए सबूत
रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता ने सालों तक किसी से शिकायत नहीं कि लेकिन पिछले कुछ महीने से उसने सबूत के लिए रिकॉर्डिंग शुरू की थी. इसमें ज्यादातर ऑडियो फाइल हैं. 

आरोपी शादीशुदा और दो बच्चों का पिता है मूल रूप से प्रयागराज का रहने वाला है. वह 20 साल पहले नोएडा शिफ्ट हो गया था. और यहां एक महिला के साथ लिव इन में रहने लगा. वह अपनी पत्नी से अलग हो गया. 

क्या होता है डिजिटल रेप
डिजिटल रेप का अर्थ होता है कि जब कोई किसी महिला या लड़की का किसी वस्तु से उत्पीड़न करे. निर्भया केस के बाद 2012 में कानून में यह जोड़ा गया था.

ये भी पढ़िए- पाकिस्तान के पूर्व राजदूत ने किया महिला सहयोगी का यौन उत्पीड़न, की गई ये सिफारिश

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.





Source link