Gold-Silver Price Review: फरवरी के 20 दिनों में गिरी 3292 रुपये सोने की कीमत, चांदी भी हुई सस्ती, जानें आगे क्या रहेगा हाल

0
310


नई दिल्ली: इस साल शादियों का सीजन पूरे एक महीने पीछे है. अभी गिनती की शादियां हो रही हैं. अप्रैल में शादियों की बहार आने के साथ ही मार्च महीने से ही सोने-चांदी की कीमतों में फिर से बढ़ोतरी होने का अनुमान है. लेकिन बात फरवरी की करें तो सिर्फ 20 दिनों में सोने की कीमतों में जबर्दस्त गिरावट देखने को मिली है. शादियों के सीजन से पहले सिर्फ 20 दिनों में सोने की कीमतों में 3,292 रुपये प्रति 10 ग्राम तक की गिरावट दर्ज की गई है. वहीं, चांदी की कीमतों की बात करें तो इस समय पिछले साल के भाव की तुलना में चांदी 7,594 रुपये प्रति किलो तक सस्ती हुई है.

बुलियन की दौड़ के नतीजे

पहली बात तो ये बता दें कि बुलियन मार्केट (Bullion Market) में सोने और चांदी के दाम वायदा कारोबार पर आधारित होते हैं. असल बाजार में सोने-चांदी की कीमतें एकदम बराबर नहीं रहती, बल्कि आगे-पीछे रहती हैं. अब बताते हैं कि बुलियन में सोने ने पिछले एक सप्ताह में कैसा प्रदर्शन किया. दरअसल, सोना (Gold) पिछले 20 दिनों में अगर 3292 रुपये प्रति 10 ग्राम तक गिरा है, तो पिछले एक सप्ताह में ये गिरावट 1285 रुपये प्रति 10 ग्राम तक रही. वहीं, चांदी के भाव पिछले सप्ताह की तुलना में मामूली तौर पर ज्यादा हुई है. चांदी ने 37 रुपये की बढ़ोतरी दर्ज की है. 

15 से 19 फरवरी के बीच सोने के दाम में कितना अंतर?

दिल्ली के सर्राफा बाजार में सोने का दाम (Gold Price) सबसे ज्यादा 7 अगस्त 2020 को था, तब सोना 56,254 की सर्वकालिक ऊंचाईयों को छू गया था. लेकिन पिछले सप्ताह की बात करें तो 12 फरवरी 2021 यानि शुक्रवार के दिन सोने का कारोबार शाम को जब बंद हुआ था, तो सुबह 47,528 पर बाजार खुलने की तुलना में 47,386 पर बंद हुआ था. यानि 12 फरवरी को 142 रुपये सोना सस्ता हुआ था. और 19 फरवरी को सोने का दान घटकर 46,101 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया. यानि एक सप्ताह में 1285 रुपये की गिरावट दर्ज की गई.

15 से 19 फरवरी के बीच चांदी के दाम में कितना अंतर?

अब चांदी (Silver Price) की बात करें तो 7 अगस्त 2020 को चांदी 76,008 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच चुकी थी. लेकिन 19 फरवरी को चांदी 68,414 रुपये प्रति किलो पर बंद हुई. एक सप्ताह पहले यानि 12 फरवरी को चांदी 68,377 रुपये प्रति किलोग्राम थी. इस तरह से सप्ताह के दामों में तो 37 रुपयों की बढ़ोतरी हुई, लेकिन सालाना तौर पर इसमें 7594 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज हुई है. सोने-चांदी के दामों के आधिकारिक आंकड़े इंडियन बुलियन एसो. से लिए गए हैं. 

Gold and Silver Rate

ये भी पढ़ें: Balochistan में पाकिस्‍तानी सेना पर बड़ा आतंकी हमला, इतने सैनिकों की मौत

वैश्विक परिस्थितियों पर निर्भर करता है सोने का दाम

भारत में सोने की मांग हमेशा बनी रहती है, लेकिन इसकी कीमत वैश्विक बाजार पर निर्भर करती है. एक तरफ साल 2020 में पूरी दुनिया कोरोना महामारी से लड़ रही थी, तो दूसरी तरफ सोना लगातार रिकॉर्ड बना रहा था. साल 2020 में सोने की कीमतों (Gold Price) में 30 फीसदी तक बढ़ोतरी हुई थी. वैश्विक स्तर पर करीब 25 फीसदी बढ़ोतरी हुई थी. दरअसल, कोरोना महामारी की वजह से निवेशकों ने शेयर बाजार की तुलना में बुलियन में ज्यादा निवेश किया था.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here