Hardik Pandya: हार के बाद हार्दिक पांड्या के फैसले पर उठे सवाल, बताया क्यों टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी

0
10


Hardik Pandya: पंजाब किंग्स (PBKS) के खिलाफ 8 विकेट की करारी शिकस्त झेलने के बाद गुजरात टाइटंस (GT) के कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) के एक फैसले पर सवाल उठ रहे हैं. हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी, जिसके बाद उनका ये फैसला टीम को ले डूबा. 

हार्दिक पांड्या के फैसले पर उठे सवाल

पंजाब किंग्स (PBKS) ने पहले बल्लेबाजी करने उतरी गुजरात टाइटंस (GT) की टीम को सिर्फ 143 रनों पर ही रोक दिया. जवाब में पंजाब किंग्स के बल्लेबाजों ने 4 ओवर बाकी रहते ही 145 रन बनाकर मैच फिनिश कर दिया. हार के बाद हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) के इस फैसले पर सवाल उठ रहे हैं कि उन्होंने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का गैरजरूरी एक्सपेरिमेंट क्यों किया? 

हार्दिक ने बताया क्यों टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी

हार्दिक पांड्या ने कहा कि मुश्किल परिस्थितियों में टीम को परखने के लिए उन्होंने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था. हार्दिक पांड्या ने कहा कि इस पिच पर 170 रनों का स्कोर लड़ने लायक होता, लेकिन लगातार विकेट गंवाते रहने के कारण टीम ज्यादा बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर सकी.

गुजरात की टीम 8 विकेट पर 143 रन ही बना सकी

पहले बल्लेबाजी का फैसला करने के बाद गुजरात की टीम आठ विकेट पर 143 रन ही बना सकी. पंजाब ने 16 ओवर में दो विकेट के नुकसान पर जीत दर्ज कर ली. पंजाब के लिए शिखर धवन ने नाबाद 62, भानुका राजपक्षे ने 40 और लियाम लिविंगस्टोन ने नाबाद 30 रन बनाए.

‘हम लड़ने लायक स्कोर के करीब भी नहीं थे’

हार्दिक ने मैच के बाद कहा, ‘जाहिर है कि हम यहां लड़ने लायक स्कोर के करीब भी नहीं थे. इस पिच पर 170 रन का स्कोर लड़ने लायक होता, लेकिन हम विकेट गंवाते रहे और लय हासिल नहीं कर सके.’ हार्दिक ने कहा, ‘हम मुश्किल स्थिति में अपनी टीम को परखना चाहते थे. इसलिए पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था. मुझे पता था कि नई गेंद हरकत कर सकती है, लेकिन अगर आप लगातार विकेट गंवाएंगे तो दबाव में ही रहेंगे.’





Source link