India At 75: लाल किले की खूबसूरती में लगे चार चांद, अद्भुत दृश्य देखें

0
55


नई दिल्ली: देश के 76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सोमवार को लाल किले को तिरंगों, फूलों और भारत की स्वतंत्रता से संबंधित प्रमुख घटनाओं को प्रदर्शित करती चित्रकारी से सजाया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से कुछ देर पहले लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पहली बार एमआई-17 हेलीकॉप्टर से फूल बरसाए गए.

हाथियों के साथ लोगों ने ली सेल्फी

लाल किले के प्रवेश द्वार पर मशीन से संचालित दो हाथियों को तैनात किया गया था, जिन्होंने लोगों का ध्यान आकर्षित किया. कार्यक्रम समाप्त होने के बाद लोगों को हाथियों के साथ सेल्फी लेते हुए देखा गया.

प्रधानमंत्री का भाषण समाप्त होने के बाद आसमान में तीन रंगों के गुब्बारे छोड़े गए. गत 75 वर्ष में पहली बार लाल किले पर 21 तोपों की सलामी देते वक्त देश में निर्मित होवित्जर तोप का इस्तेमाल किया गया.

पारंपरिक पोशाक में दिखे एनसीसी कैडेट

राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) कैडेट ने अपने-अपने राज्य की पारंपरिक पोशाक पहनी थी और उन्हें भारतीय मानचित्र के आकार वाले ‘ज्ञान पथ’ दीर्घा में बिठाया गया था. प्रधानमंत्री लाल किला परिसर से रवाना होने से पहले उस दीर्घा में भी गए, जहां एनसीसी कैडेट बैठे थे. उन्होंने उनसे बातचीत भी की.

17वीं सदी के मुगल स्मारक लाल किले के बाहर बड़ी संख्या में एकत्र लोगों में खासा जोश दिखाई दिया. वे तिरंगे वाली टोपियां पहने और राष्ट्रीय ध्वज थामे हुए थे. देश भर के विभिन्न स्कूलों के कुल 792 एनसीसी कैडेट ने कार्यक्रम में भाग लिया.

लाल किले पर आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह के अनुभव के बारे में बताते हुए पश्चिम बंगाल के एनसीसी कैडेट आकाश ने कहा कि उन्होंने कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री से मिलकर रोमांचित महसूस किया.

कैडेट आकाश ने क्या कहा? जानिए

आकाश ने कहा, ‘हम इस कार्यक्रम के लिए पिछले 15 दिनों से दिल्ली में हैं. यह हमारे लिए बहुत बड़ा अवसर था और मुझे उम्मीद है कि हमें फिर से ऐसे कार्यक्रमों में शामिल होने का मौका मिलेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण हम सभी के लिए बहुत प्रेरणादायक था.’

पंजाब से आई एक और एनसीसी कैडेट हरप्रीत कौर ने कहा कि लाल किले पर आयोजित समारोह में शरीक होना एक रोमांचक अनुभव था. कौर ने कहा, ‘जब एमआई-17 हेलीकॉप्टर ने फूल बरसाए तो मुझे बहुत अच्छा लगा. आसमान में गुब्बारे छोड़ना भी मुझे बहुत पसंद आया. यह बहुत रोमांचक अनुभव था.’

इसे भी पढ़ें- आजादी का 75वां वर्ष: राष्ट्रीय लोक अदालत में टूट गए अब तक के सारे रिकॉर्ड, देखें आंकड़े

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.





Source link