Indian Railways: खुशखबरी! रेल सफर के दौरान यात्रियों का बड़ा झंझट खत्म, रेलवे दे रहा ये जबरदस्त सुविधा

0
52


नई दिल्ली: Indian Railways to open 100 Food plazas: रेल यात्रियों के लिए जरूरी खबर है. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने अब यात्रियों के सफर को ज्यादा सुरक्षित और सुविधाजनक बनाने के लिए बड़ा कदम उठाया है. अब यात्रियों को ट्रेन में बेहतर खाने की सुविधा पहुंचाने और बढ़िया एक्सपीरियंस के लिए फूड प्लाजा (Food Plaza), फास्ट फूड आउटलेट (Fast Food Outlook) और रेस्टोरेंट (Restaurant) खोलने का फैसला कर चुकी है. ऐसे में, यात्रियों को सुविधा जरूर मिलेगी लेकिन IRCTC को भारी नुकसान पहुंचेगा.

हमारी सहयोगी वेबसाईट ज़ी बिजनेस की रिसर्च टीम ने इस पर विस्तार से जानकारी दी है और बताया है कि इस नई पहले से IRCTC के रेवेन्यू पर क्या असर पड़ सकता है.

IRCTC को दी गई थी जिम्मेदारी

एक्सपर्ट के अनुसार, इस फैसले से IRCTC के नेगेटिव डेवलपमेंट दिख रहा है. भारतीय रेलवे ने एक ऑर्डर पास किया है, जो 17 जोनल रेलवे हैं उनको फूड प्लाजा, फास्ट फूड आउटलेट और रेस्टोरेंट सेटअप करने की जिम्मेदारी दे दी गई है. यानी अब रेलवे स्टेशनों पर फूड प्लाजा का स्वादिष्ट खाना मिल सकेगा. इससे पहले ये अधिकार IRCTC के पास था.

ये भी पढ़ें- होली पर सरकार का बड़ा तोहफा! 1.65 करोड़ लोगों को फ्री मिलेगा LPG सिलेंडर, ऐसे उठाएं फायदा

आईआरसीटीसी को झटका

गौरतलब है कि पहले इसके लिए आवंटित जगह IRCTC को दी गई थीं जो अब तक खाली थी, वहां पर कोई रेवन्यू जनरेट नहीं हो रहा था. इस वजह से रेलवे को बड़ा नुकसान झेलना पड़ रहा था. इसके अलावा जो ज्यादा लाइसेंस फीस और रेल लैंड की दरें हैं, उसके चलते IRCTC फूड कोर्ट सेटअप नहीं कर पाया था. IRCTC ने कहा, ‘खराब लोकेशन, ऑपरेशनल और फाइनेंशियल फिजिबिलीटी न होने की वजह से यहां सेटअप लगाने में दिक्कतें आ रही थीं.’

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम में बेहिसाब गिरावट! 3,500 रुपये सस्ता हुआ गोल्ड, चांदी भी धड़ाम; जानिए लेटेस्ट रेट

कितना हो सकता है नुकसान?

आईआरसीटीसी को इससे तगड़ा नुकसान हुआ है. लेकिन कोविड 19 के पहले वित्तीय वर्ष में आईआरसीटीसी फायदे में था लेकिन, कोरोना के चलते FY20 और FY21 में आय काफी घटती हुई दिखी थी, क्योंकि उस दौरान लॉकडाउन था जिसमें रेलवे सेवा बाधित रही ही, साथ ही कैटरिंग भी उस दौरान बंद कर दिया गया था. लेकिन फिर दिसंबर के महीने में हालात ठीक होने के बाद ‘Ready to Eat’ सेगमेंट और रेलवे पेंट्री की आय बढ़ रही थी. आईआरसीटीसी के डेटा के अनुसार, FY20, FY21 में कैटरिंग से आय घटकर 17 फीसदी, 28 फीसदी रही.

वहीं, रेलवे के इस फैसले के बाद, एक्सपर्ट्स का मानना है कि फूड प्लाजा बनने के बाद रेलवे के पेंट्री और Ready to Eat की आय पर काफी असर पड़ सकता है.

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 





Source link