Indian Railways: सीनियर सिटीजन के लिए अच्छी खबर! ट्रेन टिकट पर फिर से मिल सकती है छूट

0
15


नई दिल्ली: ट्रेन टिकट (Train Ticket) में वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizen) को मिलने वाली छूट को लेकर एक बार फिर मंथन का दौर शुरू हो गया है. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने इस संबंध में रेलवे से जानकारी मांगी है. दरअसल, कोविड-19 का खतरा कम होने और देश में अन्य सभी तरह की गतिविधियों के सामान्य होने के साथ ही वरिष्ठ नागरिकों को ट्रेन से यात्रा के दौरान किराये में मिलने वाली रियायत को बहाल करने की मांग एक बार फिर उठने लगी है, इस बढ़ते दबाव को कम करने के लिए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय एक सक्रिय भूमिका निभा रहा है. सरकार इस कोशिश में है कि रेलवे पर आर्थिक दबाव भी न पड़े और रियायत भी मिल सके.

रेलवे से मांगी जानकारी

एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस समय देश में ऐसी अनक्लेम्ड राशि सवा लाख करोड़ से ज्यादा है और अब तक वरिष्ठ नागरिकों से जुड़ी ढेर सारी योजनाएं मौजूदा समय में इसी फंड से संचालित होती रही है. फिलहाल वरिष्ठ नागरिकों से जुड़े संगठनों की मांग के मद्देनजर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने रेलवे से इस संबंध में जरूरी जानकारियां मांगी हैं, जिसके बाद आगे की रणनीति पर केंद्र सरकार काम करेगी.

ये भी पढ़ें- सरकारी कर्मचारियों के लिए झटका! फिटमेंट फैक्टर को लेकर आया ये बड़ा अपडेट

2 साल से बंद है ये सर्विस

कोविड महामारी के दौरान खराब वित्तीय हालत को देखते हुए रेलवे ने तीन श्रेणियों को छोड़कर सभी के किराए में रियायत बंद कर दी थी, इनमें वरिष्ठ नागरिक भी हैं. हालांकि यह सुविधा कब तक बहाल होगी इसको लेकर अभी कोई स्पष्टता नहीं है. लेकिन जिस तरह से वरिष्ठ नागरिकों की ओर से दबाव बढ़ रहा है, उसको देखते हुए इस पर जल्द कोई फैसला लिए जाने की उम्मीद लगाई जा रही है. मौजूदा समय में देश में वरिष्ठ नागरिकों की संख्या करीब 14 करोड़ है.

ये भी पढ़ें- अभी नहीं मिलेगी महंगाई से राहत! RBI गवर्नर ने बताया कब मिलेगी राहत

रेल मंत्री ने कही थी ये बात

हालांकि रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पिछले दिनों लोक सभा में कहा था कि करीब सात करोड़ वरिष्ठ नागरिक करीब दो साल से बिना किसी छूट के ट्रेनों से यात्रा कर रहे हैं. लिहाजा सभी वरिष्‍ठ नागरिक रेल किराए में बिना किसी छूट के यात्रा करने के लिए मजबूर हैं.

(इनपुट- आईएएनएस)

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here