Kidney Stone Foods: ये 4 फूड बन सकते हैं पथरी का कारण, अचानक महसूस होगा गंभीर दर्द

0
15


किडनी में पथरी की समस्या काफी दर्दनाक होती है. जब पथरी का दर्द उठता है, तो मरीज की हालत खराब हो जाती है. इस समस्या के पीछे लाइफस्टाइल और खानपान की खराब आदतें हो सकती हैं. इस आर्टिकल में गुर्दे में पथरी का कारण बनने वाले 4 फूड्स के बारे में जानकारी मिलेगी. आइए जानते हैं कि किडनी में पथरी की समस्या से बचने के लिए किन 4 चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए.

Kidney Stone Foods: किडनी में पथरी का कारण बनते हैं ये फूड
अत्यधिक वजन, कुछ दवाओं का सेवन, सप्लीमेंट्स और किसी मेडिकल ट्रीटमेंट के कारण गुर्दे में पथरी हो सकती है. लेकिन इन वजहों के अलावा, निम्नलिखित 4 फूड भी किडनी स्टोन का कारण बन सकते हैं. इनमें से कुछ फूड काफी हेल्दी भी होते हैं. आइए विस्तार से जानते हैं.

1. नमक का अधिक सेवन
शरीर के लिए सोडियम यानी नमक बहुत जरूरी है, यह शरीर में इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस करने के लिए अहम होता है. लेकिन जब नमक का अधिक सेवन होने लगता है, तो इससे कैल्शियम लॉस हो सकता है. यह कैल्शियम या सोडियम के क्रिस्टल किडनी में जमने लगते हैं और पथरी का रूप ले लेते हैं.

2. एनिमल प्रोटीन का अधिक सेवन
मसल्स बनाने के लिए एनिमल प्रोटीन का सेवन किया जाता है. इसे पाने के लिए लोग पोर्क, अंडा, रेड मीट, पोल्ट्री, चिकन आदि का सेवन किया जाता है. जब एनिमल प्रोटीन का अधिक सेवन किया जाने लगता है, तो पेशाब में साइट्रेट केमिकल का स्राव कम होने लगता है. आपको बता दें कि साइट्रेट केमिकल पथरी बनने से रोकता है. इसलिए इसके कम होने से गुर्दे में पथरी हो सकती है.

3. ऑक्सलेट फूड्स का सेवन
एक्सपर्ट्स के अनुसार ऑक्सलेट फूड्स का सेवन करने से भी पथरी बनने लगती है. अगर आप इस समस्या से बचना चाहते हैं, तो अपनी डाइट से ऑक्सलेट वाले फूड को हटा दें या फिर इसके साथ कैल्शियम रिच फूड का सेवन करने लगें. इससे ऑक्सलेट कैल्शियम के साथ जुड़ जाता है और किडनी तक पहुंचने का खतरा कम हो जाता है.

4. अतिरिक्त शुगर का सेवन
डाइट में अतिरिक्त शुगर या आर्टिफिशियल शुगर का सेवन किडनी स्टोन का खतरा बढ़ा सकता है. इसलिए शुगर फूड्स, डिब्बा या पैकेटबंद फूड आदि का सेवन ना करें. वहीं, आप रोजाना 8 से 10 गिलास पानी का सेवन जरूर करें. इससे किडनी में पथरी की समस्या से राहत मिलेगी.

Disclaimer:
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link