Men’s health: पुरुष इन 5 मसालों का करें सेवन, दूर हो जाएगी मायूसी

0
47


Men’s health: गलत लाइफ स्टाइल और उल्टा सीधा खानपान लोगों के यौन स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल रहा है. अगर आप यौन संबंधी किसी भी समस्या से परेशान हैं तो कुछ मसाले आपकी मदद कर सकते हैं. आयुर्वेद में बहुत पहले से ही मसालों का प्रयोग यौन संबंधित बीमारियों के इलाज में किया जाता रहा है. इस खबर में हम आपको कुछ ऐसे घरेलू मसालों के बारे में बताएंगे जो आपके यौन क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं. 

पुरुषों की कमजोरी दूर करें यह मसाले (Spices for Boost Men’s Sexual Health)

मेथी का सेवन
देश के मश्हूर आयुर्वेद डॉक्टर अबरार मुल्तानी के अनुसार, मेथी का आयुर्वेद में अपना महत्व है. इसके बीज में पाए जाने वाला सैपोनिन्स टेस्टोस्टेरोन नामक हार्मोन को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है. इस हार्मोन के वजह से पुरुषों में कामोच्छा की वृद्धि होती है. इसलिए आप मेथी का सेवन कर सकते हैं.

लहसुन का सेवन
डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते हैं कि लहसुन कई बीमारियों का इलाज है. लहसुन में कामोत्तेजक (aphrodisiac) गुण होता है और यह समय से पहले वीर्य को गिरने से रोकता है और संभोग की अवधि को बढ़ाने में काफी मददगार साबित होता है. आप खाली पेट लहसुन की दो कलियां खा सकते हैं.

शिलाजीत का सेवन
डॉक्टर अबरार मुल्तानी बताते हैं कि आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत के सेवन के सेक्स पॉवर बढ़ती है. इतना ही नहीं इसका शरीर पर कई अन्य प्रभाव भी होते हैं, जिनकी सहायता से बुढापा भी दूर रहता है. 

अश्वगंधा का सेवन
यह औषधीय जड़ी बूटी पुरुषों में यौन समस्याओं के इलाज के लिए एक प्रभावी उपाय है. अश्वगंधा दिमागी शक्ति में सुधार करता है और शरीर में कामेच्छा को भी बढ़ाता है. इससे पुरुष अपने स्खलन को बेहतर तरीके से नियंत्रित कर सकते पाते हैं और संभोग को लम्बा खींच सकते हैं.

लौंग का सेवन
लौंग में कई तरह की प्रॉपर्टीज होती हैं, जैसे मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, सोडियम, जिंक आदि. इसे कामोत्तेजना बढ़ाने वाले मसाले के रूप में भी जाना जाता है. यदि आपको कोई सेक्सुअल समस्या है, तो लौंग का सेवन करें. इससे यौन स्वास्थ्य में सुधार होगा. 

ये भी पढ़ें:  खजूर को दूध में मिलाकर इस वक्त सेवन करें शादीशुदा पुरुष, भाग जाएगी कमजोरी, मिलेंगे यह जरबदस्त लाभ

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here