NCB के सपोर्ट में आईं क्रांति: कभी IPL में स्पॉट फिक्सिंग में जुड़ा था नाम, अब समीर वानखेड़े की पत्नी बोलीं- पहले आंकड़ों की स्टडी करें और फिर कमेंट करें

0
26


2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

आर्यन खान की गिरफ्तारी ने बॉलीवुड को हिला कर रख दिया है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद सामने आए ड्रग एंगल में रिया चक्रवर्ती के बाद एक और ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए देख रहे हैं। कुछ चीजें अभी भी कॉमन हैं – एनसीबी के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े, न्यायिक हिरासत में बी’टाउन के सदस्य और उनके लिए खड़े बिरादरी के सदस्य। लेकिन इस मामले में एक ट्विस्ट आया है समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति काे लेकर, जो कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं।

क्रांति का ग्लैमर वर्ल्ड से कनेक्शन
ने अजय देवगन अभिनीत गंगाजल (2003) में एक प्रमुख भूमिका निभाई। ब्यूटी जात्रा (2006), करार (2017), नो एंट्री पुधे धोका आहे (2012) जैसी कई मराठी फिल्मों का भी हिस्सा रही हैं। वह वर्तमान में एक प्रभावशाली व्यक्ति हैं और एक फैशन लाइन की भी मालकिन हैं। क्रांति रेडकर पर आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग विवाद का हिस्सा होने का आरोप लगाया गया था। ये 2013 की बात है जब एस श्रीसंत भी रडार पर आए थे। बाद में, इसे ‘गलत पहचान’ का मामला करार दिया गया था। क्रांति और समीर के रिश्ते के बारे में पता लगने पर लोग यही कह रहे हैं कि पत्नी शोबिज में सबका ध्यान खींचने की कोशिश कर रही है, जबकि समीर वानखेड़े बॉलीवुड सदस्यों का भंडाफोड़ कर रहे हैं।

NCB के सपोर्ट में आईं क्रांति रेडकर
समीर वानखेड़े की वाइफ क्रांति NCB की कार्यशैली पर उठ रहे सवालों के बाद उसके सपोर्ट में आ गईं हैं। एक सोशल मीडिया पोस्ट में क्रांति ने लिखा-आपके निरंतर समर्थन के लिए आप सभी को धन्यवाद देने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। खास तौर पर NCB के प्रयासों और लगातार छापेमारी और उनके खतरनाक अभियानों में की गई ऑफिसर्स की निडर कड़ी मेहनत को पहचानने के लिए धन्यवाद। दुख की बात है कि जब बॉलीवुड शामिल होता है तो लोग खबरों में दिलचस्पी लेते हैं। मीडिया एनसीबी के सराहनीय काम की रिपोर्ट कर रहा है, सबसे बड़े गैंगस्टर्स और तथाकथित डॉन को पकड़ रहा है। आशा है कि ये बात आप तक पहुंचे और आपका बिना शर्त प्यार और समर्थन मिलता रहे। समाज में कुछ ऐसे तत्व हैं जो केवल बॉलीवुड को लक्षित करने के लिए विभाग को दोष देते हैं, मैं उनसे अनुरोध करती हूं कि कृपया आंकड़ों की स्टडी करें और फिर कमेंट करें। हम घर पर सुरक्षित बैठे हैं और अपने फैंसी फोन के पीछे से टाइप कर रहे हैं जबकि वे हर रोज फ्रंट में आकर संघर्ष कर रहे हैं। आइए उन लोगों के लिए अच्छे रहें जो निस्वार्थ भाव से देश की सेवा कर रहे हैं। बोलो जयहिंद।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here