Neeraj Chopra के रगों में दौड़ता है Indian Army का खून, तिरंगे को देते हैं ऐसा सम्मान

0
38


नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) के गोल्ड मेडल (Gold Medal) विनर नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) का देशप्रेम किसी से छिपा नहीं है. उन्होंने टोक्यो में जीत के बाद भारत का तिरंगा लहराया, ये हर हिंदुस्तानी के लिए गर्व का पल था. नीरज इंडियन आर्मी (Indian Army) में सूबेदार हैं, यही वजह है कि वो राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) का सम्मान करना बखूबी जानते हैं.

तिरंगे से है बेइंतहा लगाव

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने के बाद उन्होंने तिरंगे के प्रति जो प्यार दिखाया है वो काबिल-ए-तारीफ है. एक यूजर ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आपको अहसास होगा कि उन्होंने अपने विरोधी का अभिवादन करने के बाद तिरंगे को सही तरीके से फोल्ड करके रखा है. वहीं दूसरे प्लेयर का झंडा उनके बगल में पड़ा हुआ है. ऐसा इसलिए है क्योंकि वो फौजी हैं, सुबेदार नीरज चोपड़ा, विशिष्ट सेवा मेडल’

 

स्पोर्ट्स कोटे के तहल भारतीय सेना में एंट्री

नीरज चोपड़ा को 2016 में खेल कोटे के तहत इंडियन आर्मी में नायब सूबेदार के पद पर शामिल किया गया था. उनकी मेन यूनिट 4 राजपूताना राइफल्स है. आमतौर पर सेना में किसी भी खिलाड़ी को सीधे नायब सूबेदार रैंक नहीं दी जाती. लेकिन नीरज का स्पोर्ट्स रिकॉर्ड शानदार था. यही वजह है कि उन्हें ये रैंक मिली. नीरज को पुणे में मिशन ओलंपिक विंग और आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट में ट्रेनिंग के लिए चुना गया था. 
 

सूबेदार को मिला सुबेदार का साथ

कॉमनवेल्थ गेम्स 2010 (Commonwealth Games 2010) में जैवलिन थ्रो (Javelin Throw) में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले सूबेदार काशीनाथ नाइक (Subedar Kashinath Naik) नीरज चोपड़ा के शुरुआती ट्रेनर थे. कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने के बाद नीरज को सेना ने सूबेदार की रैंक पर प्रमोट किया था. उन्हें 2018 में अर्जुन अवॉर्ड और भारतीय सेना के विशिष्ट सेवा मेडल से भी सम्मानित किया गया था.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here