OTT रिपोर्ट: एलन मस्क बोले- खराब कंटेंट से नेटफ्लिक्स ने खोए 2 लाख यूजर, अश्लील और गाली-गलौज से भरा कंटेंट परोसने पर भी भारत में बढ़े यूजर

0
24


  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Elon Musk Said Netflix Lost 2 Lakh Users Due To Bad Content, Users Increased In India Even After Serving Pornographic And Abusive Content

10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दुनिया के सबसे बड़े OTT प्लेटफार्म नेटफ्लिक्स के 2 लाख यूजर्स पिछले तीन महीनों में घटे हैं। कंपनी का दावा है कि रूस-यूक्रेन वॉर के कारण वहां अपनी सर्विस बंद करने से ऐसा हुआ है। वहीं, टेस्ला सीईओ एलन मस्क ने इस पर कहा है कि ये वोक माइंड वायरस है, जो नेटफ्लिक्स देखने से रोक रहा है। मस्क के इस बयान के बाद वोक माइंड वायरस पर बहस छिड़ गई है, लेकिन भारत में इस वायरस का असर नहीं हुआ है। नेटफ्लिक्स के भारत में 5 मिलियन पेड सब्सक्राइबर थे जो पहली तिमाही के बाद बढ़ चुके हैं। दूसरे रीजन में भले ही यूजर घटे हों, लेकिन एशिया रीजन से नेटफ्लिक्स को 1.09 मिलियन नए यूजर मिले हैं।

पिछले 10 सालों में पहली बार ऐसा हुआ है कि नेटफ्लिक्स के यूजर्स में इतनी बड़ी संख्या में कमी आई है। सिर्फ यूजर ही नहीं घटे, कंपनी का प्रॉफिट भी कम हुआ है। पिछले साल के 1.7 बिलियन डॉलर के मुकाबले 1.6 बिलियन डॉलर रह गई। नेटफ्लिक्स के इस साल की पहली तिमाही के यूजर्स 221.6 मिलियन रहे हैं, जो पिछले क्वार्टर के मुकाबले करीब 2 लाख कम हैं।

यूजर्स घटे, शेयर भी गिरे

नेटफ्लिक्स ने इस बारे में सफाई दी है कि इस साल रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते उन्होंने रूस में अपनी सर्विस बंद की है। इसी का असर है कि यूजर्स की संख्या में कमी आई है। यूजर्स घटने की खबर के साथ ही नेटफ्लिक्स के शेयर्स में भी करीब 30% की गिरावट आई है।

क्या है वोक माइंड वायरस?

वोक माइंड का अर्थ है एक जागरुक और जागा हुआ दिमाग। एलन मस्क के वोक माइंड वायरस से अर्थ है ऐसे लोग जो खराब कंटेंट नहीं देखते। उन्होंने कहा है कि वोक माइंड वायरस ने नेटफ्लिक्स को देखने लायक नहीं छोड़ा है।

बता दें कि सबसे पहले ब्लैक समुदाय के लोगों ने नस्लभेद के लिए आवाज उठाने के लिए वोक शब्द का इस्तेमाल किया। नेटफ्लिक्स ब्लैक समुदाय के लिए काफी संवेदनशील है जिससे वो उस मुद्दे पर कोई कंटेंट नहीं बना रहे हैं। एलन मस्क का इशारा इस तरफ भी था।

एलन मस्क की पोस्ट पर कमेंट करते हुए द कश्मीर फाइल्स के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि यूजर्स अच्छे कंटेट की मांग कर रहे है। अगर कंटेट ऐसा ही खराब रहा तो यूजर्स के नंबर में कमी आएगी।

भारत में नहीं आया वोक माइंड वायरस

साल 2021 के आखिर तक नेटफ्लिक्स के भारत में करीब 5 मिलियन पेड सब्सक्राइबर्स थे। नेटफ्लिक्स ने भारतीय यूजर्स को आकर्षित करने के लिए दिसम्बर 2021 में सब्सक्रिप्शन चार्ज घटा दिए हैं, जिससे इसे फायदा मिला है। INC 24 के अनुसार कंपनी ने दावा किया है कि पहले क्वार्टर में नेटफ्लिक्स के भारतीय यूजर्स बढ़े हैं।

OTT पर 80 प्रतिशत आपत्तिजनक कंटेंट

भारत में रिलीज हो रहीं सीरीज और डिजिटल फिल्में ज्यादातर ऐसी हैं जिन्हें फैमिली लायक नहीं बनाया जाता है। दरअसल OTT कंटेंट को सेंसर से होकर नहीं गुजरना पड़ता है, जिसका नतीजा है कि क्रिएटिविटी की आड़ में मनचाहा कंटेंट परोस रहे हैं। इसके बावजूद भी यंग लोग OTT प्लेटफॉर्म पर खूब समय बिताते हैं।

OTT प्लेटफॉर्म का फोकस एक ही तरह के जॉनर पर

एक फिल्म या सीरीज हिट होने के बाद से ही ज्यादातर मेकर्स उसी जॉनर की फिल्में बनाना शुरू कर देते हैं। मिर्जापुर और सेक्रेड गेम्स जैसी क्राइम ड्रामा सीरीज हिट होने के बाद भारत में क्राइम बेस्ड फिल्मों की डिमांड बढ़ गई। माई, अरण्यक, बार्ड ऑफ ब्लड, द फैमिली मैन, क्लास ऑफ 83, डेली क्राइम्स ब्रीद, जामताड़ा, असुर, अपहरण जैसी फिल्मों और सीरीज से OTT प्लेटफॉर्म को भर दिया गया है।

भारत की दो टॉप सीरीज आपत्तिजनक कंटेंट से भरपूर

मिर्जापुर और सेक्रेड गेम्स भारत की सबसे ज्यादा पसंद की गई सीरीज में से हैं, जो फैमिली के साथ देखने लायक नहीं हैं। क्राइम सीरीज के नाम पर दोनों ही सीरीज में विवादित कंटेंट, गाली-गलौज, वल्गर कंटेंट और आपत्तिजनक सीन दिखाए गए हैं। सेंसर की नजर न पड़ने पर इस तरह की सीरीज में स्टोरी पर फोकस कम और आपत्तिजनक कंटेंट पर ज्यादा होता है।

विदेशी फिक्शनल सीरीज की भारत में डिमांड

विदेश की साइंस फिक्शनल सीरीज भारत में खूब पसंद की जाती हैं। पिछले कुछ सालों में आईं गेम्स ऑफ थ्रोन, मनी हाइस्ट, वाइकिंग्स, स्क्विड गेम्स, डार्क, शरलॉक होम्स, स्ट्रेंजर थिंग्स को भारत में खूब पसंद किया गया है।

इनके अलावा बिंग बैंग थ्योरी, फ्रैंड्स, शरलॉक होम्स, द ऑफिस भी भारत में खूब पसंद की गई हैं।

भारत में कैसी हैं OTT प्लेटफॉर्म की स्थिति

भारत में करीब 40 OTT प्लेटफॉर्म्स हैं जिनमें से सबसे ज्यादा पसंद किए जाने प्लेटफॉर्म डिज्नी प्लस हॉटस्टार, नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम, अल्ट बालाजी, जी 5 हैं। 18 मिलियन सब्सक्राइबर वाला अमेजन प्राइम भारत का सबसे महंगा OTT प्लेटफॉर्म है जिसमें सबसे ज्यादा ऑरिजिनल कंटेंट परोसा जाता है। वहीं डिज्नी प्लस हॉटस्टार सबसे ज्यादा 46 मिलियन पेड सब्सक्राइबर वाला OTT प्लेटफॉर्म है। भारत में डिज्नी प्लस हॉटस्टार के यूजर्स बढ़ने का अहम कारण आईपीएल मैच भी है।

खबरें और भी हैं…



Source link