Patchy Beard Solution: क्या हल्की दाढ़ी पर चिढ़ाते हैं लोग, तो ऐसे बनाएं बीयर्ड को हैवी

0
14


Patchy Beard Solution: भारत में पुराने समय से ही दाढ़ी-मूंछ का ट्रेंड रहा है. हालांकि, अब यह ट्रेंड और भी ज्यादा चल गया है. दाढ़ी-मूंछ पुरुषों को ज्यादा आकर्षक और दमदार बनाती है. लेकिन, कुछ लोग चाहकर भी दाढ़ी नहीं रख पाते हैं, क्योंकि उनके चेहरे पर पैची बीयर्ड होती है. दाढ़ी को घना और हैवी बनाना काफी मेहनत और सब्र का काम है. दाढ़ी को घना बनाने के लिए निम्नलिखित टिप्स को अपना सकते हैं.

Patchy Beard Solution: पैची दाढ़ी को घना बनाने के टिप्स
पैची दाढ़ी के पीछे खानपान, वातावरण, आनुवांशिक कारण हो सकते हैं. जिनमें से कुछ कारकों को कंट्रोल किया जा सकता है. आइए घनी और हैवी दाढ़ी पाने के टिप्स जानते हैं.

सही विटामिन और पोषक तत्व लें
शरीर के किसी भी हिस्से को हेल्दी बनाने के लिए खानपान पर ध्यान देना बहुत जरूरी है. डाइट के जरिए ही बालों को जरूरी विटामिन और मिनरल्स मिलता है. आप अपनी डाइट में विटामिन ई, विटामिन सी और प्रोटीन युक्त फूड्स को शामिल करें.

दाढ़ी को ब्रश करना चाहिए
घनी और हैवी बीयर्ड पाने के लिए फेस में ब्लड सर्कुलेशन सही होना चाहिए. जिसके लिए आप चेहरे पर मुलायम ब्रिसल्स वाला कंघा इस्तेमाल कर सकते हैं. वहीं, ब्रश करने से दाढ़ी के बाल सीधे रहते हैं, जिससे आपकी दाढ़ी के बालों की सही ग्रोथ पता चलती है.

बाल बढ़ाना और ट्रिमिंग पर दें ध्यान
पैची बीयर्ड को भरने के लिए आपको बाल बढ़ाने और ट्रिमिंग दोनों पर सही तरीके से ध्यान देना चाहिए. क्योंकि, बाल बढ़ाने से बीयर्ड में नए बाल जुड़ते हैं और उन्हें ट्रिम करने से मजबूती मिलती है.

बीयर्ड डाई है छिपा हुआ राज
आपने फिल्म और टीवी सीरियल्स में देखा होगा कि एक्टर्स की बीयर्ड काफी डार्क और हैवी होती है. दरअसल, उसके पीछे बीयर्ड डाई का कमाल होता है. जो कि दाढ़ी को ज्यादा गहरा दिखाती है. वहीं, इसके अलावा दाढ़ी के बालों को हेल्दी बनाने के लिए बीयर्ड ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं.

Disclaimer:
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link