Post Office MIS: पोस्ट ऑफिस की इस सुपरहिट स्कीम में बस एक बार लगाएं पैसा, हर महीने होगी गारंटीड इनकम

0
77


Post office MIS: शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव के जोखिम के बीच अगर आप सिक्योर निवेश करना चाहते हैं तो हम आपके लिए पोस्ट ऑफिस की सुपरहिट स्कीम लाए हैं. इसमें आपका पैसा पूरी तरह सुरक्षित रहेगा और आपको गारंटीड रिटर्न भी मिलेगा.

पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम ( Post Office MIS) एक ऐसी सुपरहिट स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम है, जिसमें आपको बस एक बार निवेश करना पड़ता है. MIS अकाउंट का मैच्योरिटी पीरियड बस 5 साल का होता है, इसके बाद से ही आपको गारंटीड मंथली इनकम होने लगेगी. आइए जानते हैं इस स्‍कीम की डिटेल्स. 

मैक्सिमम 9 लाख तक का निवेश 

POMIS स्कीम में आप सिंगल और ज्‍वाइंट दोनों तरह अकाउंट खुलवा सकते हैं. इसमें आप मिनिमम 1,000 रुपये के निवेश से अकाउंट खोल सकते हैं. सिंगल अकाउंट में मैक्सिमम 4.5 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं. वहीं, ज्वाइंट खाते में निवेश की लिमिट 9 लाख रुपये है. 

ये भी पढ़ें- Bank Privatization: बिकने जा रहे हैं ये दो सरकारी बैंक! सरकार की तैयारी पूरी, आपका अकाउंट भी तो नहीं?

MIS अकाउंट के हैं ये फायदे

– MIS में दो या तीन लोग मिलकर भी ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं.
– इस अकाउंट के बदले में मिलने वाली आय को हर मेंबर को बराबर दिया जाता है.
– ज्वाइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं.
– सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं.
– अकाउंट में किसी तरह का बदलाव करने के लिए सभी अकाउंट मेंबर्स की ज्वाइंट एप्लीकेशन देनी होती है.
– पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में कोई भी भारतीय नागरिक निवेश कर सकता है.

जानिए वर्तमान इंटेरेस्ट रेट 

इंडिया पोस्ट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, मंथली इनकम स्‍कीम पर सालाना 6.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है. इसका भुगतान हर महीने होता है. 

प्रीमैच्‍योर बंद कराने का भी नियम

पोस्ट ऑफिस की MIS की मैच्‍योरिटी पांच साल की होती है. हालांकि आप चाहें तो इसमें प्रीमैच्‍योर क्‍लोजर हो सकता है. लेकिन डिपॉजिट की तारीख से एक साल पूरे होने के बाद ही आप पैसा निकाल सकते हैं. अगर एक साल से तीन साल के बीच में पैसा निकालते हैं, तो डिपॉजिट अमाउंट का 2% काटकर वापस किया जाएगा. 

ये भी पढ़ें- Online Banking: गलती से दूसरे के खाते में ट्रांसफर हो गये पैसे? एक झटके में वापस मिलेगी रकम, जानें कैसे

MIS में क्या है खास?

– पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम बेहद खास है क्योंकि MIS अकाउंट को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर भी कर सकते हैं.
– इसके मैच्योरिटी को यानी पांच साल पूरा होने पर इसे आगे 5-5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है.
– MIS अकाउंट में नॉमिनेशन की सुविधा है. इस स्‍कीम पैसा पूरी तरह सेफ होता है. 

जानिए कैसे खोलें अकाउंट 

– अगर आप भी पोस्ट ऑफिस का MIS अकाउंट खोलना चाहते हैं तो आप इसके लिए के लिए आपके पास पोस्‍ट ऑफिस यानी डाकघर में सेविंग्‍स अकाउंट होना चाहिए.
– जरूरी दस्तावेजों में यानी आईडी प्रूफ के रु में आपके पास आधार कार्ड या पासपोर्ट या वोटर कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस आदि होना जरूरी है.
– इसके लिए आपको 2 पासपोर्ट साइज के फोटोग्राफ भी देने होंगे.
– एड्रेस प्रूफ के लिए सरकार द्वारा जारी आईडी कार्ड या यूटिलिटी बिल मान्‍य होंगे.
– इन सभी ये डॉक्युमेंट को लेकर आप पोस्‍ट ऑफिस जाकर पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम का फॉर्म भरें.
– आप चाहें तो इसे ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते हैं.
– फॉर्म भरने के साथ ही आपको इसमें अपने नॉमिनी का नाम भी देना होगा.
– यह खाता खोलने के लिए शुरू में 1000 रुपये कैश या चेक के जरिए जमा करना होगा.





Source link