Samsung के इस फोन की खराब परफॉर्मेंस पर भड़के ग्राहक, साउथ कोरिया में कीमत हुई आधी!

0
23


Samsung के फ्लैगशिप स्मार्टफोन Galaxy S22 को साउथ कोरिया में ग्राहकों की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है। घरेलू मार्केट में कंपनी के इस स्मार्टफोन की परफॉर्मेंस को लेकर अनेकों यूजर्स की शिकायते हैं, जो लॉन्च के एक हफ्ते बाद ही मिलने लगी थीं। इससे सैमसंग की छवि को नुकसान पहुंचा है। आईफोन के प्रतिद्वंदी के रूप में अब इस स्मार्टफोन को काफी कमजोर माना जा रहा है। 

ग्राहकों ने इस बाबत शिकायत की है, यहां तक कि मुकदमा भी दायर कर दिया है कि स्मार्टफोन मेकर ने विज्ञापन में इसे सबसे पावरफुल स्मार्टफोन कहा है। लेकिन, भारी एप्लीकेशंस, जिनमें प्रोसेसर पर सबसे अधिक लोड पड़ता है, चलाने में फोन की परफॉर्मेंस बहुत धीमी हो जाती है। कोरिया फेयर ट्रेड कमिशन इस तरह की शिकायतें पिछले महीने से देख रहा है और इस बारे में कंपनी के बाबत जांच कर रहा है। 

इस विवाद ने सैमसंग की छवि को गहरा नुकसान पहुंचाया है। कंपनी के हाइ-एंड हैंडसेट्स पर से लोगों का विश्वास डगमगा गया है। कंपनी के फाइनेंसेज को भी नुकसान हुआ है और मार्केट शेयर में कमी आना शुरू हो गई है। 

हैंडसेट को लेकर मिल रहीं शिकायतों में सबसे ज्यादा जिक्र कंपनी के गेम ऑप्टिमाइजेशन सर्विस (GOS) को लेकर हैं। कंपनी के अनुसार, यह सॉफ्टवेयर गेमिंग के दौरान फोन को ओवरहीट होने से बचाता है और बैटरी लाइफ को भी बचाता है। साउथ कोरियन कंपनी ने इस सॉफ्टवेयर को 2016 में पेश किया था। Geekbench ने इस बारे में कहा है कि GOS गेमिंग के दौरान अपने आप ही हैंडसेट की परफॉर्मेंस को सीमित कर देता है। यह हैवी ऐप्लीकेशन, जिनमें प्रोसेसर पर लोड पड़ता है, के दौरान भी यही काम करता है। गीकबेंच ने पाया कि इस सॉफ्टवेयर ने गैलेक्सी एस22 के प्रोसेसर को 46 प्रतिशत तक धीमा कर दिया। 

मुद्दा ये बना कि कंपनी ने मार्केटिंग मैटीरियल में इस संबंध में अधिक डीटेल्स नहीं दीं। उसके साथ ही इसे डिसेबल करने का भी कोई ऑप्शन यूजर के पास नहीं होता है। इसी समस्या को लेकर यूजर्स की शिकायतों ने सोशल मीडिया पर भी बवाल किया। 

ITSub नाम से एक यू-ट्यूबर ने अपनी पोस्ट में कहा, “यह एक ऐसी समस्या है जो पहले कभी नहीं देखी, इससे छुटकारा पाने का भी कोई तरीका नहीं है।” इस यूट्यूबर के 21 लाख सब्सक्राइबर हैं और चैनल गैजेट्स के बारे में बात करता है। 

Samsung ने कहा कि उसने यूजर्स की सेफ्टी के लिए, बिना किसी जोखिम के, सॉफ़्टवेयर को डिसेबल करने की परमिशन देने के लिए एक अपडेट जारी किया है। कंपनी ने यह भी कहा कि वो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों में अपनी इनोवेशन को आगे भी जारी रखेगी। 

S22 सीरीज के लॉन्च के बाद छह हफ्ते में कंपनी 10 लाख हैंडसेट की सेल कर चुकी है। साउथ कोरिया के तीन बड़े टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स ने इसकी कीमतों में भारी कटौती कर दी है। देश में S22 की कीमत KRW 5,49,000 (लगभग 33,880 रुपये) कर दी गई है। जबकि इसे KRW 9,99,000 (लगभग 61,650 रुपये) में लॉन्च किया गया था। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here