Samsung पर लगाया गया GOS के जरिए 10,000 ऐप्स की परफॉर्मेंस कम करने का आरोप

0
59


Samsung को 10,000 से अधिक ऐप्स पर परफॉर्मेंस लिमिट लगाने का आरोप लगाया गया है। एक ट्विटर यूज़र ने कथित तौर पर पता लगया है कि सैमसंग अपनी गेम ऑप्टिमाइजिंग सर्विस (GOS) से इन ऐप्स की परफॉर्मेंस को सीमित करती है। बता दें, Samsung ने GOS को कुछ गेम्स और ऐप्स की परफॉर्मेंस को सीमित रखने के लिए डेवलप किया है, जिससे स्मार्टफोन को ओवरहीटिंग और थ्रॉटलिंग संबंधित समस्याओं को रोका जा सके, लेकिन दावा किया जा रहा है कि यह सर्विस कुछ चुनिंद गेम्स और ऐप्स तक सीमित नहीं है।

Gizmochina ने ट्विटर यूज़र @GaryeonHan के ट्वीट का हवाला देते हुए जानकारी दी है कि Samsung की GOS 10,000 ऐप्स की परफॉर्मेंस पर असर डाल रही है। इनमें सिस्टम ऐप्स, Google ऐप्स और कई थर्ड-पार्टी ऐप्स शामिल हैं। ट्विटर यूज़र ने पता लगाया है कि सर्विस केवल गेमिंग तक सीमित नहीं है, बल्कि कई ऐप्स पर भी प्रभाव डाल रही है।
 

ट्विटर यूज़र का कहना है कि डिवाइस का तापमान उचित सीमा में होने पर भी GOS को परफॉर्मेंस को लिमिट करते देखा गया है। इतना ही नहीं, सर्विस वास्तव में Geekbench जैसे बेंचमार्किंग ऐप्स पर असर नहीं डालती है, और उन्हें थ्रॉटल लिस्ट से हटा देती है। बता दें, बेंचमार्किंग ऐप्स के जरिए स्मार्टफोन की परफॉर्मेंस को स्कोर किया जाता है। निश्चित तौर पर थ्रॉटलिंग लिस्ट से हटाने से वास्तविक स्कोर नहीं पता चलेगा।

रिपोर्ट कहती है कि Samsung इस GOS मुद्दे की जांच कर रही है और इसे Galaxy Note 7 मुद्दे की तरह ही गंभीरता से लेने का वादा कर रही है।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें





Source link