Suzuki ने पाकिस्तान को दिया बड़ा झटका, कारों का प्रोडक्शन करेगी बंद! क्यों हो रहे ऐसे हालात?

0
20


हाइलाइट्स

टोयोटा के असेंबलर इंडस मोटर कंपनी प्रोडक्शन बंद करने की घोषणा की थी.
प्रतिबंधों की वजह से आयात के जरिए आने वाले जरूरी सामान की पूर्ति नहीं हो रही .
कंपनी ने प्लांट को 2 से 6 जनवरी 2023 तक बंद करने का फैसला किया है.  

नई दिल्ली. पाक सुकुजी मोटर कंपनी (PSMC) ने घोषणा की कि उसके प्रोडक्शन प्लांट 2 जनवरी से 6 जनवरी तक पूरी तरह से बंद रहेंगे. जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने इसके पीछे ऑटो पार्ट्स के आयात पर प्रतिबंध के बाद इन्वेंट्री स्तर की कमी का हवाला दिया है. इस महीने की शुरुआत में पाकिस्तान में टोयोटा ऑटोमोबाइल के असेंबलर इंडस मोटर कंपनी (IMC) ने भी घोषणा की कि वह 20 दिसंबर से 30 दिसंबर तक अपने उत्पादन संयंत्र को पूरी तरह से बंद कर देगी.

इंडस मोटर कंपनी ने सुजुकी मोटर कंपनी की तरह आयात के लिए मंजूरी से संबंधित देरी के बाद आ रही समस्याओं का हवाला दिया था. पिछले महीने आईएमसी के अधिकारियों ने कॉरपोरेट ब्रीफिंग में कहा था कि केंद्रीय बैंक द्वारा लगाए गए आयात प्रतिबंध और रुपये में जारी गिरावट देश के ऑटो सेक्टर को नुकसान पहुंचा रही है.

ये भी पढ़ें- इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमतों में हो सकती है 5-7% तक बढ़ोतरी, जानिए वजह

कॉम्पोनेंट्स की कमी से जूझ रही कंपनी
पीएमएससी ने कहा कि प्रतिबंधों की वजह से आयात के जरिए आने वाले जरूरी सामान की पूर्ति नहीं हो पा रही है. इसकी वजह से इन्वेंट्री स्तर प्रभावित हुआ है. इसलिए, इन्वेंट्री स्तर की कमी के कारण कंपनी के प्रबंधन ने जनवरी से ऑटोमोबाइल के साथ-साथ मोटरसाइकिल के लिए अपने प्लांट को 2 से 6 जनवरी 2023 तक बंद करने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें-  Electric Vehicles की बिक्री में दोगुना से भी ज्यादा उछाल, रिकॉर्ड तोड़ हो सकती है सेल

इस वजह से ऑटो उद्योग पर आया संकट
PSMC सुजुकी कारों, पिकअप, वैन, 4×4 और मोटरसाइकिल और संबंधित स्पेयर पार्ट्स के असेम्बलिंग और मार्केटिंग में लगी हुई है. पाकिस्तान का ऑटो उद्योग, जो आयात पर बहुत अधिक निर्भर है, वह अब रुपये की गिरती कीमत की वजह से संकट के बीच फंस गया है. पाकिस्तान की स्टेट बैंक ने लगातार गिरते रुपये के के बाद क्रेडिट पत्र (एलसी) खोलने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

क्या सुधरेंगे हालात?
पाकिस्तान में ऑटो उद्योग रुपये की गिरावट की वजह से बढ़ी हुई उत्पादन लागत से जूझ रहा है. दूसरी तरफ ब्याज दरों, वाहनों पर बढ़े हुए टैक्स  और आर्थिक मंदी के कारण मांग में भारी कमी आई है. आर्थिक विशेषज्ञों ने इन हालातों को बहुत हद तक ऑटो कीमतों के लिए जिम्मेदार ठहराया है, जिससे मांग में कमी आई है. उनका कहना है कि जब तक आयात प्रतिबंधों में ढील नहीं दी जाती, तब तक स्थिति और बिगड़ती ही जाएगी.

Tags: Auto News, Autofocus, Automobile, Maruti Suzuki, Pakistan news



Source link