Train your brain: दिमाग के काम और याददाश्त को बूस्ट करेंगे ये 5 एक्सरसाइज

0
14


क्या आप जानते हैं कि रोजाना हम उठाते, झुकते, नाचते, सांस लेते और पूरे दिन की कई अन्य गतिविधियां कैसे करते हैं. आपके द्वारा किए जाने वाले हर एक काम को आपका ब्रेन करवाता है. तो दिमाग की फिटनेस को कैसे नजरअंदाज किया जा सकता है. ध्यान रखें कि अगर आपका दिमाग कमजोर है, तो आपको मेंटल और शारीरिक दोनों तरह की कई समस्याएं हो सकती हैं. आज हम आपको 5 एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे, जिनसे आप दिमाग के काम और याददाश्त को बूस्ट कर सकेंगे.

1. वॉकिंग
एक गतिहीन लाइफस्टाइल याददाश्त और दिमाग के काम में गिरावट से जुड़ी है. शारीरिक गतिविधि में शामिल होकर आप ऐसे प्रभावों की संभावना को कम कर सकते हैं. आप संगीत सुनते हुए डांस कर सकते हैं, टीवी देखते समय वॉक या स्क्वाट कर सकते हैं, अपने पालतू जानवरों को टहला सकते हैं, लिफ्ट के बजाय सीढ़ियों का उपयोग कर सकते हैं और एक्टिव रहने के लिए सुबह की सैर के लिए जा सकते हैं. एक्सपर्ट के अनुसार, “सुडोकू जैसे दिमागी खेल  फोकस, सोच और समस्या सुलझाने की क्षमताओं को बढ़ा सकते हैं.”

2. स्क्वाट
अपने दिमाग की सेहत को बेहतर बनाने के लिए, आपको जिम में हांफने और कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता नहीं है. इसे घर पर स्क्वाट्स के साथ किया जा सकता है. स्क्वाट   ताकत और बैलेंस बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे वर्कआउट में से एक है. इससे हैप्पी हार्मोन रिलीज होते हैं और दिमाग की नई सेल्स के विकास होता है.

3. एरोबिक एक्सरसाइज
एरोबिक एक्सरसाइज में तैराकी, कूदना, चलना और साइकिल चलाना शामिल है. यह कोई सीक्रेट नहीं है कि एरोबिक एक्सरसाइज दिमाग की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद करता है. इसके अतिरिक्त, ये वर्कआउट आपके मूड, मेमोरी, इम्यून सिस्टम, कॉग्निटिव फंक्शन और फोकस को बढ़ा सकते हैं. इससे दिमाग में मौजूद न्यूरोनल कनेक्शन को मजबूती मिलती है और तनाव कम होता है.

4. डांस
डांस मूड और मेंटल हेल्थ को बेहतर बनाने के लिए सबसे अच्छा ब्रेन एक्सरसाइज है. कई रिसर्च के अनुसार, डांस डिमेंशिया के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है.

5.सांस लेने वाले व्यायाम
सांस लेने वाली एक्सरसाइज से आपके शरीर और दिमाग को कई तरह के फायदे होते हैं. आप इसका उपयोग आराम करने, मसल्स को बढ़ाने, ब्लड प्रेशर को कम करने, दिल की गति को नियंत्रित करने और ब्लड ऑक्सीजन के लेवल को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं. अपने दिमाग के लाभ के लिए गहरी, धीमी सांस लेने का अभ्यास करें. 

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link