Vitamin D Deficiency: विटामिन डी की कमी से आप हो सकते हैं डिप्रेशन के शिकार, जानें इसके लक्षण

0
45


Vitamin D Deficiency: विटामिन डी एक आवश्यक विटामिन है, जिसका उपयोग आपका शरीर हड्डियों के सामान्य विकास और रखरखाव के लिए करता है. विटामिन डी आपके नर्वस सिस्टम, मस्कुलोस्केलेटल सिस्टम और इम्यून सिस्टम में भी अहम भूमिका निभाता है. वहीं. शरीर में विटामिन डी की कमी से हड्डियों और मांसपेशियों में समस्याएं पैदा हो सकती है. आपको विटामिन डी सूरज, फूड और पोषक तत्वों की खुराक से मिलता. इन सबके बावजूद विटामिन डी की कमी दुनिया भर में एक आम समस्या है.

विटामिन डी महत्वपूर्ण क्यों?
विटामिन डी आपके शरीर को स्वस्थ रहने के लिए कई आवश्यक विटामिनों में से एक है. यह आपके खून और हड्डियों में कैल्शियम के संतुलन को बनाए रखने और हड्डियों के निर्माण व रखरखाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. विशेष रूप से, विटामिन डी की आवश्यकता हड्डियों के निर्माण और स्वस्थ टिशू के लिए जरूरी होता है. विटामिन डी की कमी के कारण आंतों द्वारा कैल्शियम और फास्फोरस के अवशोषण में गिरावट से हाइपरकैल्सीमिया (आपके खून में कैल्शियम की कमी) हो जाता है. हाइपरकैल्सीमिया के लक्षण मांसपेशियों में कमजोरी, ऐंठन, थकान और डिप्रेशन हैं.

विटामिन डी की कमी किसे प्रभावित करती है?
विटामिन डी की कमी नवजात, बच्चों और वयस्कों सहित किसी को भी हो सकती है. हाई स्किन मेलेनिन (गहरी त्वचा) वाले लोगों में विटामिन डी की कमी अधिक आम हो सकती है, खासकर मध्य पूर्वी देशों में.

कितनी आम है विटामिन डी की कमी?
विटामिन डी की कमी एक आम वैश्विक समस्या है. दुनिया भर में लगभग 1 अरब लोगों में विटामिन डी की कमी है. अमेरिका में लगभग 35 प्रतिशत वयस्कों में विटामिन डी की कमी है.

विटामिन डी की कमी के लक्षण?

  1. झुकी हुई या मुड़ी हुई हड्डियों के कारण गलत बॉडी पोस्चर.
  2. मांसपेशियों में कमजोरी, दर्द या फिर ऐंठन.
  3. हड्डी में दर्द.
  4. थकान.
  5. मूड में बदलाव या डिप्रेशन.

विटामिन डी की कमी का क्या कारण है?

सामान्य तौर पर, विटामिन डी की कमी के दो मुख्य कारण हैं

  1. अपने आहार में या धूप के से पर्याप्त में विटामिन डी नहीं मिलना.
  2. आपका शरीर विटामिन डी को ठीक से उपयोग नहीं कर रहा है.

विटामिन डी की कमी के कई विशिष्ट कारण हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. कुछ मेडिकल कंडीशन
  2. वजन घटाना-सर्जरी
  3. कुछ दवाएं
  4. कई अलग-अलग जैविक और पर्यावरणीय फैक्टर भी आपको विटामिन डी की कमी के विकास के अधिक जोखिम में डाल सकते हैं.

Disclaimer:
इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link