Yoga for shoulder pain: कंधे के दर्द से मिलेगी राहत, बस रोजाना करें Malaika Arora के योगा ट्रेनर के टिप्स

0
17


Yoga for shoulder pain: कंधे के दर्द को कई बार मैनेज करना बहुत मुश्किल हो सकता है. विशेष रूप से वर्क फ्रॉम होम कल्चर हमारे जीवन और लाइफस्टाइल में अपनी जगह बना रहा है. इसके चलते हमारे चलने, काम करने और व्यायाम करने के तरीके में एक बड़ा बदलाव आया है. कोविड और लॉकडाउन के कारण लोगों ने अपने-अपने घरों में ऑफिस बना लिया. उसने हमारे मूवमेंट को रोक दिया है. वर्क फ्रॉम होम में अपने लैपटॉप के साथ एक ही कुर्सी या सोफे पर अटके रहने से दिन के अधिकांश समय में शरीर की मसल्स में अकड़न और जोड़ों में दर्द होता है.

लैपटॉप पर ज्यादा देर काम करते समय या जिम में कसरत करते समय भी हम कंधे के दर्द का अनुभव कर सकते हैं. हालांकि ज्यादातर बार यह गंभीर नहीं होता है, फिर भी यह चलने में कठिनाई पैदा कर सकता है. इसको बताते हुए मलाइका अरोड़ा के योग ट्रेनर सर्वेश शशि ने इंस्टाग्राम में लिखा कि एक सामान्य घटना के कारण कंधे में दर्द उठ सकता है, लेकिन यह बेहद दर्दनाक हो सकता है. ये एक ऐसे समय हो सकता है, जब आप इसकी उम्मीद नहीं करेंगे. सावधानी बरतना और उन्हें तुरंत राहत देना जरूरी है, जिसके लिए ये 3 आसनों को नियमित रूप से अभ्यास करें.

1. ईगल आर्म्स
2. कैट काऊ पोज
3. थ्रेड द नीडल पोज

सर्वेश द्वारा बताए गए ये योगासन कई स्वास्थ्य लाभों के साथ आते हैं. ईगल आर्म्स हिप्स को स्ट्रेच करने और कंधों को खोलने में मदद करते हैं. यह गहरी सांस लेने को बढ़ावा देने और फोकस व शरीर के बैलेंस में सुधार करने में भी मदद करता है. दूसरी ओर कैट काऊ पोज, कूल्हों, रीढ़, पेट और पीठ को खींचने में मदद करता है. यह किडनी और अधिवृक्क ग्रंथियों (adrenal glands) की मालिश करने और उन्हें उत्तेजित करने में भी मदद करता है. कैट काऊ पोज से शरीर का कॉर्डिनेशन बढ़ाना और इमोशनल बैलेंस में सुधार करने में मदद मिलती है. थ्रेड द नीडल पोज रीढ़ की मोबिलिटी और शरीर को आराम देने में मदद करता है. यह गर्दन और पीठ के ऊपरी हिस्से के दर्द को कम करने में भी मदद करता है.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.





Source link